• ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

आनंद रिसर्च फेलोशिप के लिए सामान्य दिशानिर्देश

1. परिचय :

राज्‍य आनंद संस्‍थान भारतीय नागरिकों से रिसर्च फैलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित करता है । वे सभी स्‍नातकोत्‍तर उपाधि धारक जो राज्‍य आनंद संस्‍थान के द्वारा संचालित कार्यक्रमों,परियोजनाओं के साथ जुड़ने के इच्‍छुक हों, वे इस फैलोशिप के लिए आवेदन कर सकते हैं । आवेदक अलग से उन एक्‍शन रिसर्च अथवा अध्‍ययन प्रस्‍ताव को भी इस फैलोशिप के लिए दे सकते हैं जिन्‍हें संस्‍थान के कार्यक्रमों के तहत किया जा सकता है। यह फैलोशिप उन स्‍वतंत्र शोध परियोजनाओं के लिए भी लागू होगी जो कि संस्थान के विभिन्न विषयों एवं उद्देश्यों के अनुरूप होंगे | इस फैलोशिप के तहत राज्‍य आनंद संस्‍थान के कार्यक्रमों के लिए प्रासंगिक अन्‍य शोध के विषय / प्रस्‍तावों पर भी विचार किया जा सकता हैं |

2. पात्रता :

  • भारत का कोई भी नागरिक जो किसी भी विषय में स्‍नातकोत्‍तर परीक्षा उत्‍तीर्ण हो।
  • आवेदक को आनंद एवं खुशहाली के विषय पर कार्य करने, शोध करने या लेखन का अनुभव या समझ होनी चाहिए।

3. अवधि एवं अनुदान राशि :

  • फैलोशिप की अधिकतम अवधि 2 वर्ष होगी। आवश्‍यक होने पर इसे बढ़ाया जा सकेगा।
  • आनंद फैलोशिप के अंतर्गत चयनित व्‍यक्ति को अधिकतम रू. 5.00 लाख तक की सहायता प्रदान की जा सकेगी।
  • अनुदान सहायता प्रतिमाह स्‍टायपंड अथवा निर्धारित लक्ष्‍य (milestone) की पूर्ति पर दी जा सकेगी।
  • अनुदान प्रदान करने का स्‍वरूप स्‍वीकृति के समय स्‍पष्‍ट परिभाषित किया जायेगा।

4. आवेदन की प्रक्रिया :

  • आवेदन केवल राज्‍य आनंद संस्थान की वेबसाइट के माध्यम से आमंत्रित किए जाएंगे और विज्ञापन में उल्लेखित समय सीमा से पहले प्राप्त हो जाना चाहिए।
  • विस्तृत सीवी के साथ सभी पात्रता दस्तावेज का अटैचमेंट ऑनलाइन आवेदन में संलग्न होना चाहिए।
    * सी.वी. गाइडलाइन्स
  • एक विस्तृत अनुसंधान प्रस्ताव और सारसंक्षेप (क्रमशः 2000 और 300 शब्द) आवेदन पत्र के साथ ऑनलाइन जमा करना होगा। यह अंग्रेजी / हिंदी में हो सकता हैं ।
    * प्रोजेक्ट प्रपोजल बनाने हेतु विस्तृत गाइडलाइन्स

5. पुरस्कार के लिए प्रक्रिया :

  • आनंद फैलोशिप प्राप्‍त करने के लिए प्रेषित आवेदन पत्रों का परीक्षण राज्‍य आनंद संस्‍थान द्वारा गठित समिति द्वारा किया जायेगा।
  • समिति प्रस्‍तावित गतिविधियां/ शोध से आनंद के विषय की समझ विकसित करने अथवा उसकी वृद्धि करने में सहायक होने की संभावना पर विचार करेगी।
  • इस प्रयोजन के लिए संबंधित व्‍यक्ति का साक्षात्‍कार किया जाएगा।
  • समिति का निर्णय अंतिम होगा। आवेदन बिना बताए निरस्‍त किया जा सकेगा।
  • किसी भी समय पर 5 से अधिक फैलोशिप लाईव नहीं होगी।

 

अपने आवेदन की जानकारी प्राप्त करें