• ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

किसी को नहीं पहुंचाएंगे दुख, करेंगे दूसरों की मदद

शांत समय के बाद सरपंच सचिवों ने सुनाया अपने दिल का हाल

प्रेषक का नाम :- आनंदम सहयोगी एवं अतिरिक्त नोडल अधिकारी लखन लाल असाटी
स्‍थल :- Chhatarpur
14 Sep, 2018

छतरपुर, नौगांव के क्षेत्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज प्रशिक्षण केंद्र में नौगांव जनपद के सरपंच सचिव व रोजगार सहायकों का तीसरा डेढ़ दिवसीय आवासीय अल्पविराम परिचय शिविर सोमवार 10 सितंबर 2018 को शुरू हुआ, इस शिविर के पहले दिन प्रतिभागियों को आनंद की अवधारणा के बारे में बताया गया

          और उसके बाद मास्टर ट्रेनर लखनलाल असाटी  के सञ में सभी ने अपने अपने जीवन की बैलेंस शीट को बनाया सभी ने शांत समय लेकर अपनी अपनी नोटबुक में लिखा कि अब तक उनके जीवन की जो उपलब्धियां है और जिस मुकाम पर वह हैं वहां तक पहुंचाने में, उनको आनंदित करने में किन-किन लोगों का हाथ है और फिर उन्होंने यह भी लिखा कि उनके कारण किन-किन लोगों के जीवन का आनंद बढ़ा है प्रतिभागियों ने यह भी लिखा कि उन्हें अब तक किस-किस ने दुख पहुंचाया है और उनके द्वारा किस-किस को दुख पहुंचा है अर्थात किसका आनंद कम हुआ है

          शांत समय लेने के बाद प्रतिभागियों ने जो अपने दिल का हाल सुनाया तो बहुत सारे लोगों की आंखों में आंसू थे एक महिला सचिव ने बताया कि उसके पिता ने पत्थर तोड़ तोड़ कर उसे पढ़ाया-लिखाया कि आज वह इस मुकाम पर है एक सचिव ने कहा कि वह एक आर्थिक अनियमितता में फंस जाने के बाद मानसिक अवसाद में थे जिसका पूरे परिवार पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा था पर उस समय एक पंचायत इंस्पेक्टर ने उनकी मदद की जिस कारण उन्हें नई जिंदगी मिली और वह खुद को और अपने परिवार को बचा पाए.  एक सरपंच ने कहा कि उनके गांव में एक भी मवेशी आपको आवारा घूमते नहीं मिलेगा उन्होंने पूरे गांव की मवेशियों की व्यवस्था गौशाला में कर दी है  प्रतिभागियों ने कहा कि उन्हें यह अंदाज नहीं था कि आनंद विभाग का अल्पविराम परिचय कार्यक्रम इतना ताकतवर हो सकता है कि वह कुछ घंटों में ही उनकी सोच और नजर को बदल सकता है


फोटो :-