• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2018 |

अल्पविराम में सहा पशुचिकित्सा क्षेत्राधिकारी ने कहा-अल्पविराम से मेरे मन मे ख्याल आया "अपने कार्यालय का पूर्व सफाईकर्मी जो अब मानसिक एवम आर्थिक रूप से कमजोर क्यों न हम सब मिलकर अपने उस साथी की बच्ची की पढ़ाई का खर्च वहन करें।"

प्रेषक का नाम :- मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत इंदौर एवम विजय मेवाड़ा आनंदम सहयोगी ,अरविंद शर्मा समन्वयक
स्‍थल :- Indore
30 Jul, 2018

शासकीय कर्मचारी मानसिक रूप से भी तनाव मुक्त रहें, ऐसी उद्देश्य को लेकर राज्य आनंद संस्थान भोपाल(आनंद विभाग)द्वारा आनंदम अल्पविराम कार्यशालाओं का आयोजन कियाजा रहा है, जिसका आयोजन नोडल अधिकारी एवम अपर कलेक्टर (विकास) सुश्री नेहा मीणा जी के निर्देशन आज उप संचालक जिला पशु चिकित्सा सेवा कार्यालय इंदौर में अल्पपविराम का द्वितीय सत्र आयोजित हुआ,कार्यशाला जिले के मास्टर ट्रेनर विजय मेवाड़ा एवम प्रफुल्ल शर्मा द्वारा अल्पविराम कार्यशाला सम्पन्न हुई।जिसमे कुछ समय शांत बैठकर,अपने अंतर्मन में झांकने, और अपने चंचल मन को स्थिर रखने का अभ्यास किया गया।10 मिनिट का अल्पविराम लेते हुए क्षेत्रीय पशुचिकित्सा अधि्कारियों को एक प्रश्न दिया गया--पिछले एक माह के दौरान यदि आपने किसी की निस्वार्थ भाव से मदद की हो, तो साझा करें? श्री रत्नावत जी ,एवम शर्मा जी ने अपने अनुभव साझा किए।अल्पविराम के द्वितीय सत्र जो मदद पर आधारित था,जिसमे सहा पशुचिकित्सा क्षेत्राधिकारी श्री पंकज पांडे ने सु्झाव दिया -अपने कार्यालय का पूर्व सफाईकर्मी जो अब मानसिक रूप से कमजोर है एवम उसकी आर्थिक स्थिति ऐसी नही है कि वह अब स्कूल की फीस भर सके।क्यो न हम सब अपने सहकर्मी की बच्ची की पढ़ाई का खर्च हम सब मिलकर वहन करें।इस पर सभी ने सहमति जताई और सुझाव का तालियों से स्वागत किया।


फोटो :-