• ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

छतरपुर जिला जेल में अल्पविराम कैदियों ने कहा प्रतिशोध नहीं पश्चाताप करेंगे

प्रेषक का नाम :- आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी जिला छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur
26 Apr, 2018

छतरपुर | जिला जेल में गुरुवार 26 अप्रैल को आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी ने कैदियों के बीच अल्पविराम कार्यक्रम संपन्न कराया, शांत समय लेकर कैदियों ने अपने अपने विचार व्यक्त किए | उन सभी ने स्वीकार किया कि वह अब अपनी आत्मा की आवाज सुनने का अभ्यास करेंगे और निर्णय लेने के पूर्व थोड़ा शांत समय जरूर लेगें | कैदियों के अनुसार उनमें से लगभग एक तिहाई कैदी निर्दोष हैं, निर्दोष कैदियों के मन में प्रतिशोध की भावना जन्म ले रही है , इस पर सभी ने शांत समय लिया और फिर अपने विचार व्यक्त किए |  उन्होंने खुद कहा कि यदि अब भी वे बाहर निकलकर प्रतिशोध लेंगे तो फिर यह उन्हें निर्दोष से सचमुच दोषी बना देगा इसलिए वह अब क्षमा करने पर अधिक जोर देंगे, अपने साथी निर्दोष कैदियों के लिए उन्होंने कुछ मिनट शांत रहकर ईश्वर से प्रार्थना भी की | एक युवा कैदी ने बताया कि उसे अपनी इस स्थिति का बहुत पश्चाताप है उसकी मां और उसकी बहन लगातार उसे सही रास्ते पर चलने हेतु समझाते रहे  शहर की सबसे अच्छे स्कूल का विद्यार्थी रहा परंतु दोस्तो के बहकावे में आने का पश्चाताप है अब वह समाज में  सम्मानित  नागरिक बनना चाहता है | 
 
                            उनके जीवन को आनंदित करने वाले लोगों तथा उनके कारण आनंद पाने वाले लोगों को लेकर शांत समय लिया गया तो  एक कैदी ने कहा कि उसे इस बात का बहुत पश्चाताप है कि इस समय उसे अपने मां बाप का आनंद बढ़ाना चाहिए था पर वह जेल में है एक कैदी ने बताया कि उसने दुर्घटना में मरणासन्न व्यक्ति को किस तरह बचाया था एक कैदी ने बताया कि उसने ब्लड कैंसर से पीड़ित एक लड़की को रक्तदान किया था कैदियों ने कहा कि वह अपने मां बाप परिवार के सदस्यों मित्रों और शिक्षकों की सहयोग के कारण ही आगे बढ़े थे ,


फोटो :-