युवा आनंदक फैलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित - पंजीयन 11 से 30 सितम्बर तक        आनंद उत्‍सव 2023 फोटो एवं वीडियो प्रतियोगिता परिणाम       • भारतीय लोकतंत्र का जश्न मनाने के लिए ईसीआई द्वारा "मैं भारत हूं" गीत • आनंद उत्सव की सांख्यिकी • ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

छतरपुर।अल्पविराम से बदलेगा दृष्टिकोण: एसडीएम राजीव समाधिया

प्रेषक का नाम :- छतरपुर। आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी
स्‍थल :- Chhatarpur
11 Apr, 2018

अल्पविराम से बदलेगा दृष्टिकोण: एसडीएम राजीव समाधिया 
छतरपुर। बड़ामलहरा जनपद सभाकक्ष में अल्पविराम प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए एसडीएम राजीव समाधिया ने कहा कि अधिकारी कर्मचारी के दृष्टिकोण परिवर्तन में अल्पविराम अत्यंत सहायक है। जीवन में दृष्टिकोण बदल जाने से बहुत सारी चीजें आसान हो जाती हैं और यह हमें खुद को और दूसरों को भी आनंद प्रदान करती हैं। आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी द्वारा पंचायत सचिवों एवं रोजगार सहायकों को अल्पविराम प्रशिक्षण दिया गया। इस मौके पर तहसीलदार कमलेश कुमार गुप्ता जनपद सीईओ अजय सिंह वरिष्ठ व्याख्याता संतोष गुप्ता सहित अनेक अधिकारी कर्मचारी मौजूद थे।
एस डी एम श्री समाधिया ने कहा कि बड़ा मलहरा जनपद के विभिन्न विभागों के अधिक से अधिक कर्मचारी अल्पविराम कार्यक्रम में शामिल हों, उन्होंने यह भी कहा कि राज्य आनंद संस्थान द्वारा पंचगनी, कोयंबटूर तथा बेंगलुरु में आयोजित किए जाने वाले आनंद शिविरों के लिए बड़ा मलहरा सब डिवीजन के अधिकारियों कर्मचारियों को अनापत्ति प्रमाण पत्र दिए जाएं। अल्पविराम कार्यक्रम में सभी ने शांत समय लेकर अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनने का अभ्यास किया।
उन्होंने जीवन संतुष्टि स्केल के 2 प्रश्नों पर शांत समय लिया, पहला प्रश्न था उनके जीवन में आज जो आनंद है उसके पीछे कौन-कौन लोग हैं। दूसरा प्रश्न यह  कि उनकी वजह से किन-किन लोगों का आनंद बड़ा है। सचिव मोहन तिवारी ने कहा कि माता पिता गुरुजन और परिजनों तथा पड़ोसियों का उनके जीवन में महत्वपूर्ण स्थान है अभिषेक जैन ने भी अपने विचार साझा किए अन्य कई पंचायत सचिवों व रोजगार सहायकों ने भी विचार साझा किए। लखन लाल असाटी ने सभी से आग्रह किया कि रोज सभी लोग शांत समय लें और कम से कम 3 व्यक्तियों के लिए रोज सच्चे दिल से प्रार्थना करें।


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1