• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

एसडीएम ने कहा अल्पविराम से आया उनके जीवन में परिवर्तन

प्रेषक का नाम :- आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी
स्‍थल :- Chhatarpur
05 Feb, 2018

एसडीएम ने कहा अल्पविराम से आया उनके जीवन में परिवर्तन
अल्पविराम और आनंदम हुए साथ-साथ
छतरपुर। बड़ामलहरा जनपद पंचायत के सभाकक्ष में एसडीएम राजीव समाधिया, जनपद सीईओ अजय सिंह, नगर परिषद सीएमओ रामस्वरूप अवस्थी, सीडीपीओ श्रीमती एकता गुप्ता आदि की उपस्थिति में आनंद विभाग का अल्पविराम कार्यक्रम सम्पन्न कराया गया। आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी ने अल्पविराम अर्थात शांत समय की जानकारी देते हुए सभी से आग्रह किया कि वे कुछ मिनिट मौन रहकर अपनी अंतरात्मा की आवाज सुनने का अभ्यास करें और आज इस बात पर विचार करें कि उनकी नजर में बड़ामलहरा की सबसे प्रमुख समस्या क्या है और उसके निदान में उनका क्या योगदान हो सकता है। सीएमओ श्री अवस्थी ने कहा कि षहर के नागरिकों की सुरक्षा के लिए रोड डिवाइडर जरूरी है और वह उसके लिए शासन स्तर पर हर संभव प्रयास करेंगे अल्पविराम के बाद आनंद की अनुभूति को जारी रखते हुए अधिकारियों-कर्मचारियों ने नि:शक्तजनों को ट्राईसाइकिल भी वितरित कीं। मुंगवारी के रामचरण राजपूत, कचरा के नेकसिंह घोसी एवं कमोद सिंह, गोरखपुरा के हरीराम अहिरवार, चित्तर सिंह आदि को नि:शुल्क ट्राईसाइकिल वितरित की गई। एसडीएम राजीव समाधिया ने बताया कि वह पंचगनी में अल्पविराम का प्रशिक्षण ले चुके हैं जिस कारण उनकी जिंदगी में बहुत प्रेरणा प्राप्त हुई है। और यह उनके निजी और शासकीय काम-काज में भी दृष्टिगोचर होती है जिस कारण वह समाज और परिवार के लिए लगातार सकारात्मक कार्य कर पा रहे हैं। 


फोटो :-