• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

उज्जैन आनंद विभाग द्वारा मध्यप्रदेश पच्चिम छेत्र वि.वि.क.लि. संचा / संधा वृत उज्जैन

प्रेषक का नाम :- Shailendra Singh Dabi, Principal Scientist & Dist. Aannd Master Trainers
स्‍थल :- Ujjain
04 Dec, 2017

मध्यप्रदेश पच्चिम छेत्र वि.वि.क.लि. संचा / संधा वृत उज्जैन में दिनांक १०, १४ एवं १६ नवम्बर २०१७ को अधिकारी कर्मचारियों के लिए अल्पविराम कार्यक्रम आयोजित किये गए ! उपरोक्त अल्पविराम कार्यक्रम में विभाग के लगभग ३२ प्रतिभागियों ने भाग लिया ! कार्यक्रम की शुरुआत आनंद विभाग और उज्जैन आनंद टीम के परिचय से किया गया ! तीन दिन के प्रथम सेशन में कार्यालय और उनके अधिकारी कर्मचारी का व्वहार और कार्य करने की सामान्य गतिविधियों के बारे में विस्तृत चर्चा की गई ! अधिकारी कर्मचारी और कार्यालयीन टीम के नकारात्मक और सकारात्मक रवये और मानवीय और आप्सीय व्वहार का कार्यालय के कामो में पड़ने वाला प्रभाव को बहुत ही गंभीरता से बताया ! गिलास पॉट से उन आप्सीय व्वहार को बहुत ही सरल तरिके से समझाया गया ! सकारात्मक एवं सहयोगतं व्वहार किस तरह कार्यालय का माहौल हमेशा खुशनुमा बनाये रखता है इश्को बहुत ही रोचक तरिके से विस्तार से बताया गया ! सभी के लिए अल्पविराम कैसे उपयोगी है और ये आखिर है किया इश्को विस्तार से समझाया गया ! १० मिनिट का अल्पविराम अपनी सबसे अच्छी क्वालिटी  पर करा ! द्वितीय सेशन में रोचक खेलो से अल्पविराम और अल्पविराम से प्राप्त प्रेरणा और ऊर्जा का जीवन में खुश रहने के लिए कैसे किया जाये इश्को बहुत अच्छे से संझया गया ! हम अपने आनंद के स्तर को कैसे माप सकते है और अभी हम जीवन में आनंद के किस स्तर पर है को एक सरल प्रश्नावली का अभ्यास करा कर आपने स्वयं का आनंद मूल्यांकन करना द्वितीय अल्पविराम सेशन में सभी को सिखाया गया ! तृतीय सेशन में अल्पविराम की घंटो को कैसे पाए और कैसे इसका उपयोग रोजमराह के जीवम में करे को विस्तार से अभ्यास करना सिखाया गया ! स्वयं के आनंद मुल्यांकन के परिणाम को कैसे इम्प्रूव करे को विस्तृत से करा कर अल्पविराम की गहन तकनीक सभी प्रतिभागियों को सिखाई गई ! उपरोक्त तीन सत्र अल्पविराम कार्यक्रम में श्री शैलेन्द्र सिंह डाबी, प्रदान वैज्ञानिक एवं प्रभारी, श्री परमानंद डाबरे, आनंद विभाग जिला समन्वयक, श्री शैलेन्द्र व्यास, प्राचार्य एवं श्री राजेंद्र गुप्त, अधीक्षक ने सभी का मार्गदर्शन करते हुए विभिन सत्रों के लेचर्स लिए गए !


फोटो :-

   

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1