• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

छतरपुर। जनपद का अमला चाहता है कि सभी के सहयोग से व्यवस्थित हो कामकाज

प्रेषक का नाम :- छतरपुर। आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी
स्‍थल :- Chhatarpur
27 Nov, 2017

जनपद का अमला चाहता है कि सभी के सहयोग से व्यवस्थित हो कामकाज
अल्पविराम के बाद अधिकारियों कर्मचारियों ने रखे अपने विचार
छतरपुर। जनपद पंचायत छतरपुर के सभाकक्ष में आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी द्वारा कराए गए अल्पविराम कार्यक्रम के प्रशिक्षण के बाद प्रतिभागियों ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए और कहा कि यदि पूरा अमला आपसी समन्वय और सहयोग से व्यवस्थित काम करे तो बेहतर से बेहतर परिणाम प्राप्त हो सकते हैं।
जनपद सीईओ प्रज्ञा भारतीय, एपीओ अमित खरे, उपयंत्री एसबी सुमन, रजनी कोच्चेकर, पारुल दुबे, आत्मानंद सिंह परिहार, लिपिक रोहित आनंद आदि ने मौन रहकर अपनी आत्मा की आवाज सुनने के बाद यह विचार व्यक्त किए। इन लोगों ने कहा कि आवांछित व्यक्तियों का काम काज में हस्तक्षेप भी प्रगति में बाधक है। सभी अधिकारी कर्मचारी अपनी-अपनी क्षमता का सौ फीसदी प्रयास नहीं करते हैं। संविदा नियुक्ति का तनाव और स्टाफ की कमी ने भी कर्मचारियों के आनंद को बाधित कर रखा है। अधिकारियों ने माना कि अधीनस्थ अमला अपनी पूरी क्षमता और अनुभव का उपयोग सरकारी काम काज में करे तो बेहतर परिणाम मिलेंगे। अल्पविराम के बाद सभी ने स्वीकार किया कि वे योजनाबद्ध तरीके से काम करेंगे और परस्पर समन्वय भी रखेंगे। महिला कर्मचारियों ने पृथक शौचालय की आवश्यकता भी निरूपित की। सभी ने यह भी आवश्यकता बताई कि सुबह सुबह सबसे पहले 10 मिनट की मीटिंग में दिन भर के कामकाज की रूपरेखा तय की जाए तो पूरे दिन बेहतर काम काज होगा।


फोटो :-