• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

छतरपुर, व्यक्ति में बदलाव खुद से ही आएगा: एसई संजय निगम

प्रेषक का नाम :- आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी, छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur
01 Nov, 2017

व्यक्ति में बदलाव खुद से ही आएगा: एसई संजय निगम
विद्युत विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों ने लिया अल्पविराम
छतरपुर। व्यक्ति में जब भी बदलाव आएगा वह उसकी खुद की प्रेरणा से आएगा। सरकारी कर्मचारियों में सकारात्मकता बढ़ाने के लिए आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी द्वारा अधीक्षण अभियंता कार्यालय के कॉन्फ्रेंस हॉल में संपन्न कराए गए अल्पविराम के बाद एसई संजय निगम ने यह विचार व्यक्त किए। विद्युत वितरण कंपनी के 30-30 अधिकारियों और कर्मचारियों के तीन बैच में अल्पविराम प्रशिक्षण संपन्न हुआ।
पहले सत्र में एसई संजय निगम, ईई पीएस राजपूत, एई पीके राजपूत एवं एसबी गुप्ता सहित एस.एस. नायक, यूडी तिवारी, व्हीएस रावत, मधुसूदन अग्रवाल, सरोज केसरवानी, इंदूलाल रैकवार, एलपी सेन आदि ने अपने विचार व्यक्त किए। सभी ने कहा कि काम की अधिकता और काम के दबाव के कारण उनके जीवन का आनंद कम हुआ है पर सभी ने यह स्वीकार किया कि विद्यमान परिस्थतियों में भी आनंद की खोज की जा सकती है। परोपकार के छोटे-छोटे कामों से अपने आपको आनंदित किया जा सकता है।
दूसरे सत्र में सहायक यंत्री रामकिशोर पाठक, सर्वे शुक्ला, आरए मिश्रा, जेई आरके गुप्ता आदि ने अल्पविराम कार्यक्रम का प्रशिक्षण लेने के बाद कहा कि विचारों को सकारात्मक करने और अपनी ऊर्जा का सही दिशा में उपयोग करने के लिए जीवन में अल्पविराम की बहुत अधिक आवश्यकता है।
तीसरे सत्र में ईई जीपी गोस्वामी, एई शैलेश श्रीवास्त, जेई केके गुप्ता, रवीन्द्र श्रीवास, जीपी गोस्वामी आदि ने अल्पविराम कार्यक्रम का प्रशिक्षण लेने के बाद अपने विचारों को व्यक्त किया। सभी ने मौन रहकर अपनी आत्मा की आवाज सुनने का प्रयास किया और स्वीकार किया कि अल्पविराम उनके तनाव को कम करता है तथा उनमें काम के प्रति उत्साह का सृजन करता है।


फोटो :-

   

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1