छतरपुर,अधिकारी हितग्राहियों के सभी सवालों का करेंगे समाधान

प्रेषक का नाम :- लखन लाल असाटी आनंदम सहयोगी छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur

अधिकारियों ने अल्पविराम में मौन रहकर किया चिंतन आवेदक के सभी सवालों का देंगे सही जवाब बार-बार सवाल पूछे जाने पर भी बनाए रखेंगे धैर्य छतरपुर। कलेक्टर रमेश भंडारी, सीईओ जिला पंचायत हर्ष दीक्षित, अपर कलेक्टर दिनेश कुमार मौर्य की उपस्थिति में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभा कक्ष में आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी ने अधिकारियों का अल्प विराम कार्यक्रम संपन्न कराया। सभी ने मौन रहकर चिंतन किया कि वे आवेदक द्वारा बार-बार पूछे जाने पर भी उचित जवाब देने का प्रयास होगा। झुंझलाहट से बचने और स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए अधिकारी नियमित रूप से अल्पविराम लेंगे। अल्पविराम में आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी ने एक वीडियो फिल्म का प्रदर्शन किया जिसमें पिता पुत्र अपने घर के बगीचे में बैठे हैं। वृद्ध पिता बगीचे में फुदक रही गौरैया को देखकर बार-बार अपने जवान पुत्र से सवाल करता है यह क्या है। पुत्र तीन बार तो गौरैया कहकर जवाब दे देता है पर चौथी बार पिता पर बुरी तरह से झल्ला जाता है। तब पिता उसे अपनी वर्षों पुरानी डायरी पढ़वाता है जिसमें किसी तारीख में पिता ने अपनी कलम से लिखा है कि आज मेरे नन्हें से बेटे ने मुझसे 21 बार गौरैया का नाम पूछा और मैंने प्रत्येक बार प्यार से बताया कि यह गौरैया पक्षी है। डायरी पढऩे के बाद पुत्र की आँखों में आंसू बहने लगे। इस फिल्म को देखने के बाद इस विषय पर सभी ने चिंतन किया कि उनके समक्ष आने वाले आवेदक या हितग्राही के सवालों का वह कितने सहानुभूति पूर्वक उत्तर देकर उसे संतुष्ट करते हैं। कई बार हितग्राही एक ही सवाल कई बार करता है। अल्पविराम में एक गीत के माध्यम से भी सभी को संदेश दिया गया कि यदि हम अपने पड़ोसी पर एक उँगली उठाते हैं तो तीन अंगुलियाँ खुद की ओर स्वत: उठ जाती हैं। अल्पविराम में एसडीएम डीपी द्विवेदी, कोषालय अधिकारी राजेश गुप्ता, ई-गर्वनेंस अधिकारी राहुल तिवारी, आरईएस के एसडीओ मदन लाल अहिरवार, डूडा पीओ निरंकार पाठक, सहायक संचालक शिक्षा जे.एन. चतुर्वेदी, डीपीसी हरिशंकर त्रिपाठी, डीपीएम सोनू सुशीला यादव, आयुर्वेद अधिकारी श्री मिश्रा, जिला योजना अधिकारी श्री साकेत सहित विभिन्न विभागों के जिला कार्यालय प्रमुख मौजूद रहे।


फोटो :-

   

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1