• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2018 |

संभागायुक्त श्री रूपला के मुख्य आथित्य में 'आनन्दक-समागम' सम्पन्न आनंद विभाग की थीम पर काम करने वाले आनन्दकों, सामाजिक संस्थाओं, व्यक्तियों व बाल आनन्दकों को किया सम्मानित

प्रेषक का नाम :- शिवराज सिंह एडीएम/ डॉ सत्यप्रकाश शर्मा, आनन्दम सहयोगी, ग्वालियर
स्‍थल :- Gwalior
15 Jun, 2017

संभागायुक्त श्री रूपला के मुख्य आथित्य में 'आनन्दक-समागम' सम्पन्न आनंद विभाग की थीम पर काम करने वाले आनन्दकों, सामाजिक संस्थाओं, व्यक्तियों व बाल आनन्दकों को किया सम्मानित शिवराज सिंह एडीएम/ डॉ सत्यप्रकाश शर्मा, आनन्दम सहयोगी, ग्वालियर ग्वालियर/ मध्यप्रदेश आनन्द विभाग द्वारा संचालित विभिन्न गतिविधियों जैसे आनन्दम परिकल्पना, अल्पविराम, आनन्द उत्सव व जिला आनन्द विभाग ग्वालियर द्वारा चलाई जा रही अन्य विभिन्न अभिनव पहल जैसे परिवर्तन साईकिल रैली, चप्पल बैंक, आनन्दक १०० क्लासेज, 'सुपर ५० क्लास व आनन्दम समर कैम्प आदि के क्षेत्र में बेहतर काम करने वाले जिले के आनन्दकों, बाल आनन्दकों, सामाजिक संस्थाओं व समूहों तथा व्यक्तियों को आनन्द विभाग द्वारा गुरुवार ३१ मई को जीवाजी विश्वविद्यालय के गालव सभागार में शाम ५ बजे से ९ बजे के मध्य समपन्न एक भव्य समारोह 'आनन्दक-समागम' में सम्मानित किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अथिति संभाग आयुक्त श्री एसएन रूपला व विशिष्ट अतिथि ग्वालियर आईजी श्री अनिल कुमार थे । कार्यक्रम की अध्यक्षता कलेक्टर डॉ संजय गोयल ने की एवं पुलिस अधीक्षक डॉ आशीष विशेष अथिति के रूप में उपस्थित थे । आनन्द विभाग के नोडल अधिकारी एवं जिले के एडीएम श्री शिवराज सिंह ने अतिथियों का पुष्पगुच्छ द्वारा स्वागत किया एवं आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा ने कार्यक्रम का संचालन किया । इस अवसर पर जिले के आनन्दक, विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के लोग,विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी व विभाग की गतिविधियों में रुचि रखने वाले जिले प्रबुद्ध जन सहित लगभग ५०० की संख्या में लोग उपस्थित थे । कार्यक्रम की शुरुआत में एडीएम श्री शिवराज सिंह ने पावर पॉईंट प्रजेन्ट्शन के माध्यम से आनन्द विभाग द्वारा संचालित जिले में विभिन्न गतिविधियों पर प्रकाश डाला तथा उपस्थित जनसमुदाय से यह आव्हान किया कि आनन्द विभाग की थीम पर कार्य करने वालों के लिये आनन्द विभाग एक अम्ब्रेला है जिसके नीचे आकर सभी लोग गतिविधियों को और बेहतर कर सकते हैं जिससे वे स्वयं आनन्दित हो सकें और समाज में चारों ओर आनन्द फैला सके । कार्यक्रम में मुख्य अथिति के रूप में बोलते हुये संभाग आयुक्त श्री एस एन रूपला ने कहा कि प्रदेश में आनन्द विभाग के गठन के बाद लोगों में बाह्य आनन्द के साथ ही आन्तरिक आनन्द की खोज के प्रति रुचि बड़ी है । उन्होंने कहा कि ग्वालियर जिले में आनन्द विभाग की टीम द्वारा अनेक गतिविधियां संचालित की जारहीं हैं तारीफ़ के क़ाबिल हैं । कार्यक्रम को आईजी श्री अनिल कुमार, कलेक्टर डॉ संजय गोयल व एस पी डॉ आशीष ने भी सम्बोधित किया । आभार प्रदर्शन डीपीसी श्री जी के शुक्ला ने किया । संचालनकर्ता आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा ने सबसे पहले जनसमुदाय को आनन्द विभाग के प्रदेश में गठन की ओर उन्मुख करते हुये संक्षिप्त में परिचय दिया । कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य था माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के इस विचार कि प्रदेश का हर नागरिक के परिपूर्ण सकुशल जीवन यापन करे इसी विचार को लेकर ग्वालियर ज़िले में विभिन्न लोगों/ संस्थाओं द्वारा समाज हित तथा नीडी लोगों के कल्याणार्थ किये जा रहे कार्यों से ऐसे सभी लोगों व संस्थाओं को आनंद विभाग के अम्ब्रेला के अंदर लाया जाकर उनके कार्यों से अन्य संस्थाओ व लोगों को प्रेरित किया जाये तथा अच्छा कार्य करने वाले लोगों व संस्थाओं को सम्मानित किया जाए। उक्त विचार इसलिए सभी आनंदकों व संस्थाओं व 1 मई से 30 मई तक ग्वालियर ज़िले के 55 शासकीय विद्यालयों में आयोजित समर कैम्प में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 100 से अधिक छात्रों, शिक्षकों व संस्थाओं/व्यक्तियों को उक्त कार्यक्रम में आतिथियों द्वारा प्रशस्ति-पत्र व शील्ड से सम्मानित कराया गया। लगभग 500 अन्य लोगों के प्रशस्ति पत्र वितरण कराए जा रहे हैं। वारिश के बाद खुशनुमा माहौल में आयोजित उक्त कार्यक्रम में सम्मिलित लगभग 500 व्यक्तियों का सहभोज भी रखा गया।


फोटो :-

         

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1
Document - 2
Document - 3


वीडियो:-

Video - 1