• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

मैं शिक्षक क्यों बना हूँ' बिषय पर अल्पविराम लेने के बाद जिले भर के शिक्षक बोले शिक्षा की गुणवत्ता बड़ाने के लिये नि:शुल्क 'आनन्दक १०० क्लासेज' लेकर अलग से देंगे प्रतिदिन १ घण्टा 'सुपर ५० क्लासेज' भी आनन्दक शिक्षा मित्र लेंगे कक्षायें

प्रेषक का नाम :- -शिवराज सिंह एडीएम / डॉ. सत्यप्रकाश शर्मा, आनन्दम सहयोगी ग्वालियर
स्‍थल :- Gwalior
31 May, 2017

'मैं शिक्षक क्यों बना हूँ' बिषय पर अल्पविराम लेने के बाद जिले भर के शिक्षक बोले शिक्षा की गुणवत्ता बड़ाने के लिये नि:शुल्क 'आनन्दक १०० क्लासेज' लेकर अलग से देंगे प्रतिदिन १ घण्टा 'सुपर ५० क्लासेज' भी आनन्दक शिक्षा मित्र लेंगे कक्षायें -शिवराज सिंह एडीएम / डॉ. सत्यप्रकाश शर्मा, आनन्दम सहयोगी ग्वालियर ग्वालियर/ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का यह सोच है कि प्रदेश का हर बच्चा गुणवत्तापूर्ण शिक्षा ग्रहण करे अर्थात आर्थिक अभाव उसकी शिक्षा में रोड़ा न बने, इसी विचारधारा को लेकर ग्वालियर जिले के आनन्द विभाग ग्वालियर के नोडल अधिकारी एवं एडीएम श्री शिवराज सिंह एवं जिले के आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा ने संयुक्त रूप से एक पहल की है जिसके तहत कमज़ोर वर्ग के छात्र-छात्राओं को विशेष शिक्षा उपलब्ध कराने के लिये जिले भर में नि:शुल्क १०० कक्षायें विभिन्न स्थानों पर आगामी १ जुलाई से शुरु की जायेगी । कक्षाओं का नाम 'आनन्दक १०० क्लासेज' रखा गया है। कक्षाओं में स्वेच्छा से जिले के आनन्दक, शासकीय व अशासकीय शिक्षक व रिटायर्ड लोग पढ़ायेंगे, जिनका नाम 'आनन्दक शिक्षा मित्र' रखा गया है । २७ मई शनिवार को इन्डियन इन्स्टीट्यूट अॉफ टूरिज़म एन्ड ट्रेवल मेंनेजमेंन्ट के सभागार में जिले भर के शिक्षकों व स्वयंसेवियों की दो पालियों में बैठक आयोजित की गई जिसे एडीएम शिवराज सिंह ने सम्बोधित कर उनसे आव्हान किया कि नि:शुल्क १०० क्लासेज को संचालित करने हेतु स्वेच्छा से विद्या देने के आनन्द की अनुभूति करें जिससे ग्वालियर जिले के आर्थिक अभाव में शिक्षा न प्राप्त कर सकने वाले छात्र-छात्राओं को भी गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा मिल सके । आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा ने 'मैं शिक्षक क्यों बना' बिषय पर सभी को अल्पविराम कराया । इसके बाद अन्तर आत्मा की आबाज सुन अधिकांश ने इस कार्य को स्वेच्छा से करने की सहमति व्यक्त की । दोनों सत्रों में लगभग ४००-४०० लोगों ने भाग लिया। श्री शिवराज सिंह एवं डॉ सत्यप्रकाश शर्मा ने पहल करते हुये यह घोषणा कि वो दोनों संयुक्त रूप से १ जुलाई से कक्षा १० का गणित व विज्ञान तथा कक्षा ११ व १२ की रसायनशास्त्र नि:शुल्क १०० क्लासेज में पढ़ायेंगे । लगभग १५० लोगों ने फ़ार्म भर कर अभी तक सहमति दी है , सहमति ग्वालियर जिले की NIC के माध्यम से दी जा सकती है । JEE mains and advanced तथा NEET प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी के लिये 'सुपर ५० क्लासेज' भी चलाई जायेगी जिसमें १०, ११, व १२ कक्षाओं में ८५% से अधिक अंक लाने वाले छात्र एक प्रवेश परीक्षा में टॉप ५० रैंक हासिल करने के वाद कक्षा में भर्ती किसे जायेंगे ।


फोटो :-

         

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1
Document - 2