• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है

ग्वालियर में पुलिस के लोगो ने अल्पविराम का अभ्यास किया

स्‍थल :- Gwalior
08 May, 2017

ग्वालियर / शासकीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों में सकारात्मक सोच को और अधिक विकसित करने हेतु, आन्नद विभाग की महत्वकांक्षी पहल 'अल्पविराम' का आयोजन ७ मई २०१७ को DRP Line ग्वालियर में किया गया । कार्यक्रम में ADM एवं आनन्द विभाग के नोडल अधिकारी श्री शिवराज सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आर के त्रिपाठी, डी एस पी ट्रेफ़िक श्री विक्रम सिंह कनपुरिया, आर आई डीआरपी लाईन ग्वालियर श्री देवेन्द्र सिंह यादव, सूबेदार सुश्री रूमा नाज सहित लगभग १०० पुलिस पर्सनल ने भाग लिया । कार्यक्रम मॉं सरस्वती पर माल्यार्पण व दीप प्रज्वलित कर किया गया । आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा ने कार्यक्रम की शुरुआत में प्रदेश में आनन्द विभाग के गठन और 'अल्पविराम' की अवधारणा पर प्रकाश का डाला । इसके बाद आन्नदम सहयोगी बनने के बाद अपने जीवन में हुये परिवर्तन की कहानी को सबके साथ साझा किया। इसके उपरान्त 'मेरे जीवन का लेखा जोखा' ( Life Balance Sheet ) मनोवैज्ञानिक उपकरण ( Tool ) के प्रयोग के माध्यम से प्रतिभागियों को अपने जीवन में झाँकने की ओर प्रेरित किया और इसके बाद २० मिनट का अल्पविराम दिया गया । अल्पविराम के बाद एडीएम श्री शिवराज सिंह ने अपने परिवर्तन की कहानी सभी के साथ साझा की, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आर के त्रिपाठी व आर आई श्री देवेन्द्र सिंह यादव ने भी अपनी अन्तरात्मा की आवाज़ को सभी के साथ साझा किया । पुलिस विभाग के सभी अधिकारियों व जवानों ने कार्यक्रम की बहुत अधिक प्रशंसा की तथा हर माह इस अल्पविराम सेशन को पुलिस लाईन में आयोजित करने का आग्रह आनन्द विभाग के नोडल अधिकारी श्री शिवराज सिंह एवं आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा से किया । कार्यक्रम के अन्त में आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा ने हाथ की पॉंच उँगली वाली एक्टिविटी समझाई । पुलिस लाईन के आर आई श्री देवेन्द्र सिंह यादव, हाथ की पॉंच उँगलियों की गतिविधी, धन्यवाद-क्षमा-परिवर्तन-कौन-कार्य से प्रभावित होकर शहर की ज्वलंत समस्या पर्यावरण प्रदूषण को रोकने के लिये आगामी २५ जून को आनन्द विभाग ग्वालियर के आनन्दकों की टीम के साथ जनभागीदारी द्वारा व पुलिस विभाग की सहायता से ५०० पौधे पुलिस लाईन में रोपने की घोषणा की । सेशन में लगभग १०० से अधिक प्रतिभागी उपस्थित रहे और उन्होंने आगे भी कार्यक्रम को करने की इच्छा व्यक्त की ।