• ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

छतरपुर जीवन में आनंद क्या है और कैसे घटता बढ़ता है**महिलाओं ने अल्पविराम से जाना इसे*

प्रेषक का नाम :- मास्टर ट्रेनर एवं अतिरिक्त नोडल अधिकारी लखन लाल असाटी छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur
15 Jun, 2020

छतरपुर 10 जून 2020, डेरा पहाड़ी स्थित हॉल में महिला बाल विकास विभाग द्वारा आयोजित उन्मुखीकरण कार्यक्रम में जिला संपर्क व्यक्ति लखनलाल असाटी एवं आनंदम सहयोगी श्रीमती आशा असाटी द्वारा अल्पविराम कार्यक्रम संपन्न कराया गया, इस दौरान जिला कार्यक्रम अधिकारी अनिल जैन, सीडीपीओ अनिल नामदेव सहित अनेक अधिकारी कर्मचारी एवं विभाग की पर्यवेक्षक उपस्थित रहीं. राज्य आनंद संस्थान के मास्टर ट्रेनर लखनलाल असाटी ने प्रतिभागियों से जानना चाहा कि उनके जीवन का आनंद क्या है और यह कब घटता और बढ़ता है शांत समय लेने के बाद महिलाओं ने अपने अनुभव साझा किए किसी ने कहा कि मित्रता से आनंद बढ़ता है तो किसी ने बताया कि कार्यालीन दबाव से आनंद घट जाता है किसी ने कहा शॉपिंग करने से आनंद बढ़ता है तो किसी ने कहा कि उपेक्षा से आनंद घट जाता है किसी का परिवार के साथ रहने में आनंद बढ़ता है तो किसी ने कहा कि असफलता से आनंद घट जाता हैइंक्रीमेंटल लर्निंग अप्रोच कार्यक्रम के तहत जिला स्तरीय उनमुखी कार्यक्रम में ब्लॉक रिसोर्स ग्रुप की महिलाओं ने अल्पविराम कार्यक्रम का भरपूर आनंद लिया कुछ साधारण सी खेल गतिविधियों के माध्यम से उन्होंने जाना कि सकारात्मक सोच के साथ ऊर्जा स्तर को कैसे बढ़ाया जाता है हम सभी समर्थवान हैं पर चुनौती के सामने आने पर अपनी क्षमताओं को कम आंकते हैंमहिला प्रतिभागियों ने कहा कि शासकीय कर्तव्यों के निर्वहन में अल्पविराम कार्यक्रम उन्हें अत्यधिक उपयोगी जान पड़ा है


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1