• ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

 ऐसा कोई काम ना करें जिसके अंत में पछताना पड़े

प्रेषक का नाम :- मास्टर ट्रेनर एवं अतिरिक्त नोडल अधिकारी लखन लाल असाटी छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur
11 Oct, 2019

 छतरपुर जिला जेल में गुरुवार 10 अक्टूबर 2019 की सुबह 8:10 बजे मध्य प्रदेश शासन के अध्यात्म विभाग के स्वशासी संस्थान राज्य आनंद संस्थान के मास्टर ट्रेनर लखन लाल असाटी ने कैदियों के बीच डेढ़ घंटे का अल्पविराम सत्र संपन्न कराया, आनंदम सहयोगी व योगाचार्य रामकृपाल यादव ने योग अभ्यास कराया। मंगल ग्राम ललोनी के मंगल ग्राम सहयोगी कृष्णपाल सिंह रवि परिहार तथा मंगल ग्राम सरानी के  ग्राम सहयोगी हीरालाल बसोर ने शांत समय के कारण उनके जीवन में आए बदलाव को साझा किया । ललौनी से ही किशोर सिंह परिहार एवं राजेंद्र सिंह तथा सरानी से लक्ष्मण सिंह उपस्थित रहे ।

कैदियों ने शांत समय लेने के बाद अपने अनुभव साझा किए उन्हें अहसास कराया गया कि कोई भी निर्णय लेने के पहले वह शांत समय जरूर लें और विचार करें कि वह जो करने जा रहे हैं उसके परिणाम से कहीं उन्हें हताशा तो नहीं होगी उन्हें शांत समय में यह विचार करने को कहा गया था कि उन्हें अपने किए हुए कार्यों पर कहीं कोई पछतावा तो नहीं है यदि है तो उन्होंने वह कार्य करने के पहले क्या उस पर विचार भी किया था । शान्त समय लेकर निर्णय कर लेने के गलती की सम्भावना कम हो जाती है पूरे सत्र को सफल बनाने में सहायक जेल अधीक्षक श्री राम शिरोमणि पांडे एवं जेल शिक्षक उवेश कुमार ठाकुर का सहयोग रहा।

अंत में सभी ने यह मालिक तेरे बंदे हम गीत के साथ सत्र का समापन किया।  श्री पांडे ने कहा कि हर हफ्ते अल्पविराम सत्र का आयोजन किया जाए


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1