• ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

"चले आनंद की और" थीम पर आधारित आध्यात्म विभाग के राज्य आनंद संस्थान की अल्पविराम कार्यशाला मंत्रालय (विंध्याचल भवन) में सम्पन्न

प्रेषक का नाम :- शैलेन्द्र सिंह डाबी, प्रधान वैज्ञानिक, एवं मुकेश बिले - भोपाल के आनंद सहयोगी
स्‍थल :- Bhopal
22 Mar, 2019

प्रत्येक बुधवार को मंत्रालय (विंध्याचल भवन) में आयोजित आध्यात्म विभाग के राज्य आनंद संस्थान की अल्पविराम कार्यशाला में मंत्रालय के अधिकारियो कर्मचारियों को अल्पविराम का अभ्यास कराया जा रहा है, जिसका आयोजन भोपाल के आनंद सहयोगी श्री शैलेन्द्र सिंह डाबी (प्रधान वैज्ञानिक), श्री मुकेश बिले एवं श्री विनोद धाकड़ द्वारा लगातार किया जा रहा है ! इसी श्रृंखला में दिनाक २० मार्च २०१९ अन्तर्राट्रीय आनंद दिवस पर "चले आनंद की और" थीम पर मंत्रालय के अधिकारी कर्मचारी के लिए आधारित आध्यात्म विभाग के राज्य आनंद संस्थान की अल्पविराम कार्यशाला का आयोजन किया गया भोपाल जिले के आनंद सहयोगी एवं जिले के मास्टर ट्रेन श्री शैलेन्द्र सिंह डाबी (प्रधान वैज्ञानिक) ने आनंद और ख़ुशी को परिभाषित करे हुए इसके अंतर को समझते हुए बताया की जीवन में हम निराशा और तनाव को कैसे दूर रहे ! जीवन में तनाव और परेशानियां होती है इसको अल्पविरम के माध्यम से कैसे आनंद की और ले चले !श्री बिले जी ने आनंद की और चलने पर अल्पविराम के माध्यम से अपने भीतर की शांति और आनंद के स्त्रोत को बढ़ाने और उसको सहजने पर अल्पविराम कराया ! मन्त्रालय के अधिकारी कर्मचारियों ने अल्पविराम अभ्यास के दौरान अपने अनुभूति को सभी प्रतिभागियों से साझा करते हुए अपने अनुभवों को विस्तार से बताया ! कार्यशाला में १८ प्रतिभागियों ने भाग लिया ! आध्यात्म विभाग के राज्य आनंद संस्थान की अल्पविराम कार्यक्रम की श्रंखला प्रत्येक बुधवार को मंत्रालय के अधिकारी कर्मचारी के लिए दोपहर 1:30 से 2:30 बजे के दौरान आयोजित किया गया जा रही है, जिसमे मंत्रालय के कोई भी अधिकारी कर्मचारी भाग ले सकते है !