• ऑनलाइन कौर्स : ए लाइफ ऑफ़ हैप्पीनेस एंड फुलफिल्मेंट

शांत समय लेने के बाद साझा किये विचार पहली बार ईश्वर को अपने अंदर प्रवेश करते देखा

प्रेषक का नाम :- लखनलाल असाटी मास्टर ट्रेनर छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur
13 Oct, 2018

शांत समय लेने के बाद साझा किये विचार पहली बार ईश्वर को अपने अंदर प्रवेश करते देखा। राज्य आनंद संस्थान भोपाल द्वारा मध्यप्रदेश ग्रामीण सडक़ अकादमी वाल्मी परिसर भोपाल में मध्यप्रदेश के ग्रामीण सडक़ विकास प्राधिकरण में कार्यरत 36 अधिकारियों कर्मचारियों का ड़ेढ दिवसीय आवासीय अल्प विराम शिविर 11 एवं 12 अक्टूबर 2018 को सम्पन्न हुआ। अकादमी के महाप्रबंधक श्री नरेश कुमार पीतलिया एवं राज्य आनंद संस्थान से डॉ. रूचिरा अग्रवाल के संबोधन से सत्र की शुरूआत हुई। छतरपुर से मास्टर ट्रेनर लखन लाल असाटी, दमोह से मास्टर ट्रेनर रमेश कुमार व्यास सहित राज्य आनंद संस्थान से श्री हिमांशू भारत, श्री प्रदीप महतों एवं श्री मुकेश करूआ ने आनंद की ओर, जीवन का लेखा जोखा, फ्रीडम गिलास, चिंता का दायरा-प्रभाव का दायरा आदि सत्रों के माध्यम से प्रतिभागियों को खुद से सम्पर्क करने का अभ्यास कराया। शिविर के दूसरे दिन सुबह 7 बजे से ढ़ाई घंटे का शांत समय देने के बाद प्रतिभागियों ने अपने अनुभव साझा करते हुए कहा कि अभी तक वह भौतिक रूप से मंदिर में प्रवेश करते थे पर ढ़ाई घंटे प्रकृति की गोद में मौन रहकर उन्होंने पाया कि ईश्वर ने उनके अंदर प्रवेश किया है। किसी ने कहा कि दुनिया में जिनते महान लोग हैं उन्हें प्रकृति से ही प्रेरणा मिली है। एक ने कहा कि आज महशूस हुआ कि उन्होंने अपने जीवन का अमूल्य समय नष्ट कर दिया है, अब वह भविष्य में सबकुछ ठीक करेंगे। किसी ने रोज 1 घंटे मौन रहने तो किसी ने अपने जीवन में बदलाव लाने का संकल्प लिया। एक प्रतिभागी ने कहा कि भोपाल से लौटकर वह अपनी लकवा ग्रस्त सास को अपने साथ रखकर उसकी सेवा करेंगे। 


फोटो :-