आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें

आनंद शिविर

      

“ आनंद शिविर पंजीयन हेतु महत्वपूर्ण बिंदु ”


  • आनंद शिविर प्रथम श्रेणी से लेकर चतुर्थ श्रेणी के सभी विभाग/ निगम / मंडल के सेवकों के लिये है |
  • प्रशिक्षण शुल्‍क का भुगतान आनंद संस्‍थान द्वारा किया जायेगा, प्रतिपूर्ति बाद में संबंधित विभाग करेगा | परन्तु निगम / मंडल / बोर्ड के सेवकों को प्रशिक्षण शुल्क स्वयं भरना होगा जिसकी प्रतिपूर्ति उन्हें सम्बंधित निगम / मंडल / बोर्ड द्वारा विभागीय निर्देश क्र. 151/आ.वि./बजट/2017 दिनांक 21/06/2017 के अनुसार विभागीय बजट में से की जाएगी |
  • सभी सेवकों को यात्रा भत्ता देय होगा तथा शिविर अवधि को कर्तव्य पर माना जाएगा।
  • पंजीयन शुल्‍क 500/- का भुगतान शासकीय सेवक द्वारा किया जायेगा जो नान रिफंडेबल होगा |
  • प्रत्येक प्रतिभागी को केवल एक ही आनंद शिविर में भाग लेने की पात्रता होगी |
  • यदि कोई शासकीय सेवक अपना पंजीयन करवाने के पश्चात् किसी ‘आनंद शिविर’ में भाग लेना नहीं चाहते है तो उसकी पूर्व सूचना कारण सहित राज्य आनंद संस्थान को ईमेल anandsansthanmp@gmail.com पर प्रेषित करना होगी |
  • पंजीयन करते समय निम्नलिखित आवश्‍यक दस्तावेज़ तैयार रखें,
    1. संबंधित नियंत्रण कर्ता अधिकारी का अनुमति पत्र
    2. आधार नम्‍बर
    3. क्रेडिट/ डेबिट/ ऑनलाईन पेमेण्‍ट डिटेल्स
  1. शासकीय एवं अशासकीय आनंदकों को परिपूर्ण जीवन जीने की विधा सिखाने तथा उनमें सकारात्‍मक दृष्टिकोण विकसित करने के लिए राज्‍य आनंद संस्‍थान द्वारा ‘’आनंद शिविर’’ आयोजित किए जा रहे हैं।
  2. इन शिविरों का ‘कैलेण्‍डर’ एवं प्रतिभागी ऑनलाईन रजिस्‍ट्रेशन संस्‍थान की वेबसाइट www.anandsansthanmp.in पर उपलब्‍ध रहेगा।
  3. प्रत्येक प्रतिभागी को केवल एक ही आनंद शिविर में भाग लेने की पात्रता होगी |
  4. यदि कोई शासकीय सेवक अपना पंजीयन करवाने के पश्चात् किसी ‘आनंद शिविर’ में भाग लेना नहीं चाहते है तो उसकी पूर्व सूचना कारण सहित राज्य आनंद संस्थान को ईमेल anandsansthanmp@gmail.com पर प्रेषित करना होगी |
  5. प्रतिभागियों के सफलतापूर्वक पंजीयन होने पर उन्‍हें एस.एम.एस. एवं ईमेल से कन्‍फर्ममेशन भेजा जावेगा। कार्यक्रम संबंधी विस्‍तृत विवरण वे अपने आनंदक लॉगइन पर भी देख सकते है।
  6. ‘ आनंद शिविर ’ के सम्बन्ध में जारी निर्देश संलग्न है : दिनांक 21.06.2017, 16.10.2017, एवं 03.02.2018 |

1. आनंद शिविर (शासकीय सेवकों हेतु) :

  1. राज्‍य आनंद संस्‍थान द्वारा वर्तमान में तीन सं‍स्‍थानों से इस हेतु एमओयू किया गया है :
    क्र. संस्‍था का नामकार्यक्रम का नाम
    1.The Art Of Living Foundation, Bengaluru Building Competencies for Personal Excellence in Public Governance
    2.Initiative of Change, IOC PanchganiAlpviram
    3.Isha (Foundation) Yoga Centre, Coimbatore Inner Engineering Leadership Programme
    इन संस्‍थाओं में विभाग के सेवकों के लिए आयोजित प्रशिक्षण में संबंधित विभाग के शासकीय सेवकों के प्रशिक्षण शुल्‍क तथा टी.ए. की प्रतिपूर्ति संबंधित विभाग द्वारा की जावेगी। इन शिविरों में कार्यालय प्रमुख् की अनुमति से उपस्थित होने पर संबंधित शासकीय/उपक्रम के सेवक को ड्यूटी पर माना जावेगा तथा उन्‍हे टीए/डीए की पात्रता होगी। इस संबंध में GAD का ज्ञापन क्रमांक F11-72/2016/1/9 दिनांक 14/12/2016 संस्‍थान की वेबसाईट पर उपलब्‍ध है।
  2. उपरोक्‍त शिविरों के लिए प्रतिभागी को विभागीय वेबसाइट www.anandsansthanmp.in के माध्‍यम से ऑनलाईन रजिस्‍ट्रेशन करना आवश्‍यक है।
  3. प्रत्‍येक शिविर हेतु सीमित सीटे उपलब्‍ध होती है अत: ‘’प्रथम आओं प्रथम पाओं’’ के सिद्धांत पर शिविर में भाग लेने वाले प्रतिभागियों का चयन सॉफ्टवेयर के माध्‍यम से स्‍वत: ही होगा।
  4. विभाग अंतर्गत् कार्यरत प्रतिभागी को केवल पंजीयन शुल्‍क रू. 500/- ऑनलाइन जमा करना होगा। यह राशि नॉनरिफेंडबल होगी तथा इसकी प्रतिपूर्ति भी विभाग द्वारा नहीं की जावेगी । उपरोक्‍त तीनों संस्‍थाओं में आयोजित होने वाले शिविर में भाग लेने वाले शासकीय विभागों में कार्यरत प्रतिभागियों के शिविर शुल्‍क का भुगतान, राज्य आनंद संस्थान द्वारा सीधे शिविर आयोजित करने वाली संस्थाओं को किया जायेगा | उक्त में से केवल शिविर शुल्‍क की प्रतिपूर्ति, संबंधित विभाग द्वारा राज्य आनंद संस्थान को आनंद विभाग द्वारा जारी निर्देश क्र. 151/आ.वि./बजट/2017 दिनांक 21/06/2017 के अनुसार विभागीय बजट में से की जाएगी।
  5. शासकीय विभागों के अंतर्गत सभी सार्वजानिक उपक्रमों (निगम/ मंडल/ आयोग / संस्थान इत्यादि) में पदस्थ प्रतिभागियों को शिविर शुल्‍क एवं पंजीयन शुल्क का भुगतान स्वयं ऑनलाइन करना होगा, जिसमें से केवल शिविर शुल्क की प्रतिपूर्ति सम्बंधित उपक्रम द्वारा संबंधित अधिकारी/कर्मचारी को की जावेगी जैसा कि संदर्भित निर्देश में उल्‍लेखित है |
  6. यदि शासकीय सेवक शिविर में पति/पत्नि को साथ ले जाना चा‍हते है तो उनका पंजीयन शुल्‍क, शिविर शुल्क एवं आने-जाने का व्‍यय स्‍वयं को वहन करना होगा।

2. आनंद शिविर (अशासकीय आनंदकों हेतु) :

  1. राज्‍य आनंद संस्‍थान द्वारा 1½ दिवसीय अल्‍पविराम के 6 शिविर संभागीय मुख्यालय जैसे भोपाल, जबलपुर, इंदौर, ग्वालियर में आयोजित किए जाएंगे जो केवल अशासकीय आनंदकों के लिए होंगे|
  2. अशासकीय व्‍यक्तियों को उपरोक्त कार्यक्रम के लिए पंजीयन शुल्‍क देय होगा । उनके रूकने की व्‍यवस्‍था संस्‍थान द्वारा की जाएगी ।

3. आनंद शिविर में पंजीयन हेतु :

  1. आंनद शिविर में पंजीयन करवाते समय शासकीय सेवको के लिये नियंत्रणकर्ता अधिकारी की अनुमति आवश्‍यक होगी जिसे वे पंजीयन करते समय वेबसाइट पर अपलोड करेंगे । शासकीय सेवकों को नियंत्रणकर्ता अधिकारी का मोबाईल नंबर एवं ईमेल देना अनिवार्य होगा जिस पर नियंत्रणकर्ता अधिकारी को ईमेल एवं एस.एम.एस. भेजा जावेगा।
  2. नियंत्रणकर्ता अधिकारी किसी शासकीय सेवक को आनंद शिविर में भाग लेने की अनुमति देते समय संलग्‍न निर्धारित प्रारूप में ही अनुमति जारी करेंगे |
  3. सभी प्रतिभागियों के लिये पंजीयन करते समय आधार नंबर प्रदाय करना अनिवार्य होगा ।
  4. विभिन्‍न संस्‍थानों के आनंद शिविर कार्यक्रम एवं उनके कैलेण्‍डर वेबसाईट पर उपलब्‍ध होंगे । प्रतिभागी अपनी सुविधा अनुसार उनका चयन कर सकते है ।
  5. प्रतिभागियों को पंजीयन करवाते समय पंजीयन शुल्‍क राशि 500/- ऑनलाईन जमा करनी होगी। यह राशि नॉन रिफंडेबल (अप्रतिदेय) होगी।
  6. प्रतिभागी बिना पंजीयन के किसी भी आनंद-शिविर में शामिल नहीं हो सकेंगे।

4. अल्‍पविराम शिविर :

  1. इसके अतिरिक्‍त राज्‍य आनंद संस्‍थान द्वारा निम्‍नलिखित ‘’अल्‍पव‍िराम आनंद शिविर’’ आयोजित किये जायेगे :-
    1. 1½ दिवसीय अल्‍पविराम शिविर
    2. आनंदम सहयोगी मूलभूत शिविर
    3. आनंदम सहयोगी रिफ्रेशर शिविर
    4. मास्टर ट्रेनर्स शिविर
    इसका कैलेण्‍डर भी www.anandsansthanmp.in पर समय-समय पर उपलब्‍ध होता रहेगा ।
  2. शासकीय सेवकों के लिये अल्‍पविराम कार्यक्रमों के लिए किसी भी प्रकार का पंजीयन एवं प्रशिक्षण शुल्‍क देय नहीं है ।
  3. आनंदम सहयोगी प्रशिक्षण प्राप्त करने से पूर्व 1½ दिवसीय अल्‍पविराम प्रशिक्षण पूर्ण करना अनिवार्य है ।
  4. मास्‍टर्स ट्रेनर्स शिविर में भाग लेने हेतु आनंदम सहयोगी का प्रशिक्षण पूर्ण करना अनिवार्य है |
  5. मास्टर ट्रेनर्स प्रशिक्षण में भाग लेने हेतु पंजीकृत आवेदकों में से प्रतिभागियों का चयन विभागीय समिति द्वारा किया जायेगा |
  6. प्रशिक्षण के पश्चात् मास्टर ट्रेनर्स को Redeployment Policy के तहत राज्य आनंद संस्थान के लिए कार्य करना होगा |