आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें
  1. 1. आनंद सभा क्या है?

    राज्‍य आनंद संस्‍थान का यह सुविचारित मत है कि विद्यालयों में विभिन्‍न विषयों के निर्धारित पाठयक्रमों के अतिरिक्‍त विद्यार्थियों को उन विषयों से भी अवगत कराना चाहिए जिससे वे जीवन के कतिपय महत्‍वपूर्ण आयामों को समझ सकें। इसके‍ लिए विशेष तौर पर तैयार किए गए मॉडयूलस के आधार पर सत्रों का आयोजन होना चाहिए। इन सत्रों में विद्यार्थी किसी विषय वस्‍तु की पढ़ाई नहीं करेंगे बल्कि वह ऐसी गतिविधियां करेंगे जिनसे उनमें इन आयामों की समझ विकसित होगी। ऐसे सत्रों को आनंद सभा का नाम दिया गया है।
  2. 2. आनंद सभा में क्‍या गतिविधियां होंगी और क्‍या सिखाया जाएगा ?

    क्षमा मांगने एवं क्षमा करने के महत्‍व को समझना, प्रकृति एवं समाज के प्रति उत्‍तरदायी बनना, दूसरों की सहायता करना, कृतज्ञता का अनुभव करना, संकल्‍प की शक्ति का उपयोग करना आदि ऐसे विषय हैं जिन्‍हें सकारात्‍मक प्रयोग के माध्‍यम से अनुभव में लाया जा सकता है। एक बार यह अनुभव में आ जाए तो विद्यार्थी का भीतरी रूपांतरण संभव है।
  3. 3. आनंद सभा कौन लेगा ?

    आनंद सभा को संचालित करने के लिए सभी शासकीय एवं गैर शासकीय विद्यालयों के शिक्षक, जो स्‍वेच्‍छा से इसके लिए तैयार हों, पात्र होंगे। अपना पंजीयन करवाने के इच्‍छुक शिक्षक पहले निम्‍नलिखित सवालों पर विचार करें:-
    • क्‍या आप एक साधारण शिक्षक के स्‍थान पर गुरू की भूमिका निभाना चाहेगें?
    • क्‍या आप अपने व अपने छात्रों में सकारात्‍मक परिवर्तन लाने के इच्‍छुक हैं?
    • क्‍या आपको बच्‍चों के साथ खेलकूद व अन्‍य रोचक गतिविधियों में भाग लेना अच्‍छा लगता है ?
    • क्‍या आप नियमित शिक्षक की जिम्‍मेदारियों से बढ़कर कुछ अतिरिक्‍त करना चाहेंगे ?

    यदि इन प्रश्‍नों के उत्‍तर हॉं हैं तो आप आनंद सभा संचालित करने की योग्‍यता रखते हैं।
  4. 4. आनंद सभा का सत्र संचालित करने के लिए क्‍या करना होगा ?

    • www.anandsansthanmp.in पर पंजीयन करें।
    • पंजीयन के बाद आपका दूरभाष पर संक्षिप्‍त साक्षात्‍कार लिया जाएगा।
    • इस साक्षात्‍कार के आधार पर चयनित शिक्षकों को 3 दिवसीय प्रशिक्षण के लिए राज्‍य आनंद संस्‍थान द्वारा आमंत्रित किया जाएगा।
    • इस प्रशिक्षण के बाद संबंधित शिक्षक को आनंद सभा की विषय वस्‍तु को पहले अपने जीवन में उतारना होगा । इसके लिए उन्‍हें इसको अपने जीवन में प्रयोग करने के लिए दो माह का समय दिया जावेगा । उन्‍होने क्‍या परिवर्तन महसूस किया के संबंध में उन्‍हें जानकारी देना होगी। इस रिस्‍पॉंन्‍स के आधार पर आपको आनंद सभा लेने हेतु राज्‍य आनंद संस्‍थान तथा शिक्षा विभाग द्वारा अधिकृत किया जाएगा।
  5. 5. शासकीय शिक्षकों के लिए विभागीय अनुमति के संबंध में क्‍या कार्यवाही करनी होगी ?

    जिन शिक्षकों को तीन दिवस के प्रशिक्षण के लिए बुलाया जावेगा, उन्‍हें विभागीय अनुमति राज्‍य स्‍तर से ही शिक्षा विभाग के द्वारा दी जावेंगी। योग्‍य पाए जाने पर शिक्षा विभाग के द्वारा आपको आनंद सभा के संचालन के लिए औपचारिक आदेश दिए जावेंगे। निजी विद्यालय के शिक्षकों को इस संबंध में सभी अनुमतियां अपने विद्ययालय के सक्षम प्राधिकारी से लेनी होगी।
 

अगर आप आनंद सभा सत्र संचालित करने के इच्‍छुक हैं तो क्लिक करें।

आनंद सभा संचालित करने के लिए


  1. आनंद सभा कक्षा 9वी, 10वी, 11वी एवं 12वी के विद्यार्थियों के लिए संचालित की जावेगी।
  2. कृपया वे शिक्षक ही आवेदन करें जो हाई स्कूल अथवा हायर सेकेण्‍डरी स्‍कूल में पदस्‍थ हों और कक्षा 9, 10, 11 एवं 12 के विद्यार्थियों को पढ़ाते हों।

अगर आप आनंद सभा सत्र संचालित करने के इच्‍छुक हैं तो क्लिक करें।