• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

“विकलाँग महिला की सहायता करके आनंदित हुये”

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर मंडल संयोजक जनजातीय कार्य विभाग/आनंदम् सहयोगी मंड़ला
स्‍थल :- Mandla
07 Mar, 2018

“विकलाँग महिला की सहायता करके आनंदित हुये” वनग्राम झीना विकासखंड़ मोहगाँव के निवासी महिलाऐं संकरी भारतीया,पुष्पा भारतीया,कु.सबीला भारतीया,कु.रमोती भारतीया आनंदम स्थल का नाम सुनकर शहर आई थीं। वनग्राम निवासी आदिवासी महिलाऐं अशिक्षित हैं और आनंदम् ( दुआओं का घर ) मंड़ला में सभी प्रकार के अच्छे-अच्छे कपड़े मिलते हैं यह सुनने के बाद मंड़ला शहर आई थीं। शहर आने पर ये महिलायें शहर के विभिन्न हिस्सो से भटकते हुये कलेक्ट्रेट में घूमती रहीं। आनंदम् मुसाफिर सहायक क्लब के सदस्यों श्री अमित बैरागी को उस विकलाँग आदिवासी महिला पर दया आई जो लाचार होने से डंडे के सहारे चल रही थी। अमित बैरागी इन महिलाओं के समूह को साथ लेकर आनंदम् ( दुआओं का घर ) आये और इन अशिक्षित महिलाओं को आनंदम् की अवधारणा को समझाया।और सभी के लिये सामग्री लैने में महिलाओं की मदद् की। आनंदम् मुसाफिर सहायक क्लब के सदस्य श्री अमित बैरागी के अनुसार इन महिलाओं की मदद् करके आज वास्तविक आनंद की। अनुभूति हुई है।


फोटो :-