“स्वस्थ तन में स्वस्थ मन का निवास होता है” ( A sound Mind dwells in a sound body ) के उद्देश्य को लेकर शास.उ.मा.वि.गाजीपुर ( मंड़ला) में.लगा -योगशिविर

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर मंडल संयोजक जनजातीय कार्य विभाग/आनंदम् सहयोगी मंड़ला
स्‍थल :- Mandla

पतंजली योग समीति मंड़ला के द्वारा शहर के वरिष्ट-जनो के लिये नर्मदा किनारे रपटाघाट में योग कक्षायें संचालित हैं। यह योग कक्षायें प्रतिदिन सुबह 6-00 बजे से 8-00 बजे तक नियमित संचालित हैं। समय-समय पर पतंजली योग समीति मंड़ला के द्वारा योग शिविर अन्य स्थानों पर विभिन्न प्रायोजन हेतु लगाये जाते रहे हैं। “स्वस्थ तन में स्वस्थ मन का निवास होता है ( “A sound Mind dwells in a sound body “:- pre-socratic Greek philosopher Thales ) के उद्देश्य को लेकर पतंजली योग समीति मंड़ला के द्वारा शासकीय उ.मा.विद्यालय मंड़ला में योग शिविर लगाया गया है। परीक्षाओं / प्रतिस्पर्धा के कारण विद्यार्थियों को अपना आत्मबल / संयम/ धेर्य बनाये रखना होता है विद्यार्थी स्वस्थ रहेगें तो उनका मन और मस्तिष्क स्वस्थ रहेगा परिणाम स्वरुप उनका शैक्षणिक परिणाण भी बेहत्तर होगा। यही सिखाने के लिये योग शिविर का आयोजन किया गया।योग शिविर में कक्षा 9 वीं से 12 वीं तक अध्ययन करने वाले विद्यार्थियों और शिक्षक/शिक्षिकाओं ने भाग लिया है। योग शिविर में शरीर के साथ-साथ मन-मस्तिष्क को स्वस्थ रखने वाले विभिन्न प्रकार के योग-आसनों एवं प्राणायाम की गतिविधि विद्यार्थियों ने भी किया है। पतंजली योग समीति मंड़ला से श्रीमति अर्चना देशमुख,श्री संतोष बाली,श्री राकेश गुप्ता एवं अन्य सदस्यों ने भी विभिन्न प्रकार के योग-आसनों एवं प्राणायाम की गतिविधियाँ स्वयं करके दिखाया और विद्यार्थियो से भी साथ-साथ अभ्यास कराया जिससे विद्यार्थी योग-आसनों को सीखकर स्वयं नियमित अपने घरों में कर सकें।


फोटो :-