• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है

अपनों से दूर वृद्ध का संगठन ने किया पूरे हिन्दू रितीरिवज से किया गया अंतिम संस्कार

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर मंडल संयोजक जनजातीय कार्य विभाग/आनंदम् सहयोगी मंड़ला
स्‍थल :- Mandla
16 Jan, 2018

कहा गया है व्यक्ति जहाँ रहता है वहाँ ,स्थान से,पड़ोसीयों से,वहाँ की हवा से,वहाँ के पानी से व्यक्ति का नाता जुड़ जाता है और धीरे-धीरे उस स्थान विशेष के वातावरण का आदी हो जाता है। फिर वह कहीं का रहने वाला क्यों न हो। राधाकान्त पान्डे मूलरूप से उ.प्रदेश आजमगढ़ के रहने वाले थे बिनैका रोड में अतुल कछवाहा के यहाँ निवास था 85/ साल के हो गये थे एक बच्ची हैं वह भी विदेश मैं हैं अंतिम समय नही आये काम अपने अतुल जी ने जब खाना देने गये तब पता चला की ये नही रहें जिला अस्पताल मैं पोस्टमार्डम के बाद नगर पालिका के शव वाहन मैं मुक्तिधाम लाया गया जिसमें पूरे विधि विधान से पंच अग्नी देकर अंतिम संस्कार किया गया अशीष चौधरी (छुटका) ने जब गौ पुत्र दिलीप चन्द्रौल को दी खबर तो गौ सेवा एवं रक्तदान संगठन के गौ पुत्र दिलीप चन्द्रौल,ने तुरन्त अपनी टीम के साथ पहुँचकर पूरे विधीविधान से करवाया गया।अंतिम संस्कार सहित पूरे कार्यक्रम में अशीष चोधरी, बैसाखू नन्दा ,राहुल जैन ,पंकज मलिक ,अभिनेष अग्रवाल , मानष तिवारी रामेशवर प्रसाद पटैल अतुल कछवाहा,शाईयद अख्तर अली ,सुनील रघवंशी, मुन्ना गहोरिया , रोमी रोतिया , राजू रोतिया , विनोद रोतिया अलोक पटैल, मोहित पटैल,अशीष सारथी एवं सभी ने पूरा योगदान दिया ।मंगलवार को पूरे विधीविधान से किया जायेगा खारी ( अस्थि / चिता की राख जिसे स्थानीय बोली में खारी कहते हैं। )विर्सजन का कार्य संगम ( पुन्य सलिला माँ नर्मदा और बंजर नदी का मिलन ) संगठन की ओर से सभी शहरी धर्म प्रेमीयों से सम्लित होकर योगदान और सहयोग प्रदान करने की अपील भी की गयी है।


फोटो :-