• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है

राष्ट्रीय एकता के लिए बच्चों ने लगाई समता की दौड़

प्रेषक का नाम :- सचिन दुबे (अध्‍यक्ष- आशादीप आनन्‍द क्‍लब आशाग्राम बड़वानी)
स्‍थल :- Badwani
31 Oct, 2017

सरदार वल्लबभाई पटेल ने राष्ट्रीय एकता का ऐसा स्वरूप दिखाया था जिसके बारे में उस समय कोई सोच भी नहीं सकता था। उनके इन्हीं कार्यों के कारण उनके जन्मदिन को ‘राष्ट्रीय स्मृति दिवस’ तथा भारत सरकार ने 2014 से ‘राष्ट्रीय एकता दिवस’ के रूप में मनाया जाना प्रारंभ किया है। सरदार कहा करते थे कि “आजाद भारत बिल्कुल नया और सुन्दर होना चाहिए” अपने असंख्य योगदान एवं रियासतों के एक भारत निर्माण में विलय के बदौलत ही देश की जनता ने उन्हें ‘आयरन मेन आॅफ इण्डिया (लौह पुरूष)‘ की उपाधि दी थी। इसके साथ ही उन्हें ‘भारतीय सिविल सर्वेन्ट का संरक्षक‘ भी कहा जाता है। उन्होने ही आधुनिक भारत के सर्विस सिस्टम की स्थापना की थी। साधारण किसान परिवार में जन्में पटेल बहु आयामी व्यक्तित्व के धनी थे। उक्त बातें सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म जयंती पर आशाग्राम ट्रस्ट के सचिव डाॅ. शिवनारायण यादव ने कही। आशाग्राम ट्रस्ट बड़वानी द्वारा सर्वशिक्षा अभियान अंतर्गत संचालित विशेष आवश्यकता वाले बच्चों के छात्रावास में ‘रन फाॅर यूनिटी’ दौड़ का आयोजन माध्यमिक विद्यालय कुण्डिया बसावट में किया गया, जहां विशेष आवश्यकता वाले बच्चों ने सामान्य बच्चों के साथ दौड़ लगाकर समता व क्षमता का साझा प्रदर्शन कर एकजुटता दिखाई। आशादीप सोशल किड्स फोर्स बड़वानी, सम विकास सेवा संस्थान बड़वानी एवं आशादीप आनन्द क्लब आशाग्राम के संयोजन में आयोजित एकता की दौड़ में बच्चों के साथ-साथ आयोजकों ने भी दौड़ लगाई। सभी बच्चों को आशादीप आनन्द क्लब सदस्यों के द्वारा टाॅफी वितरित की गई। इस अवसर पर आनन्द क्लब अध्यक्ष एवं ट्रस्ट के पीआरओ सचिन दुबे, परियोजना निदेशक आनन्दक मनीष पाटीदार, आनन्दक नरेन्द्रसिंह सिसौदिया, वार्डन पन्नालाल पटेल, मा.वि. कुण्डिया की प्रधान अध्यापक श्रीमती वन्दना पाटीदार, रानू पटेल, ज्योत्सना शर्मा, वृंदा शर्मा, आशादीप सोशल किड्स फोर्स के ग्रंथ दुबे, दिलीप सोलंकी आदि उपस्थित थे। जनसंपर्क अधिकारी आशाग्राम ट्रस्ट बड़वानी


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1