• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2018 |

सिकिलसेल के मरीजों को,तुरंत ही मिल रहा है रक्त। अब उन्हें गोद लेंगें।

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर मंडल संयोजक ( आदिवासी विकास)/आनंदम सहयोगी मंडला
स्‍थल :- Mandla
26 Oct, 2017

सिकिलसेल के मरीजों को,तुरंत ही मिल रहा है रक्त। अब उन्हें गोद लेंगें। गौ सेवा और रक्तदान संगठन मंडला के सदस्य सिकिलसेल एनीमिया के रोगीयों को रक्तदान करने के लिये हमेशा तत्पर रहते है। इसी कड़ी में बीती रात को जिला चिकित्सालय मंड़ला में एक महिला को प्रशव के दौरान ,चार अन्य सिकिलसैल के रोगियों को अस्पताल जाकर लगभग ड़ेढ़ लीटर रक्त का दान.देकर जीवन में वृद्धि की। रक्तदान करने का कार्य संगठन के अध्यक्ष गौपुत्र श्री दिलीप चन्द्रौल और उनके अन्य सहयोगी ने किया है। अध्यक्ष गौ पुत्र श्री दिलीप चन्द्रौल जी के साथ अन्य लोग हैं जिन्हें रक्त का दान करने से सुखद अनुभूति होती है जिले के किसी भी चिकित्सालय में भर्ती मरीज को यदि रक्त की आवश्यकता होती हो,ब्लड ग्रुप कोई भी,समय कभी भी हो तो संगठन के सदस्य तत्काल ही संबधित को रक्त का दान करने.पहुँचते.हैं। अभी संगठन के पास फोन आता है और संगठन के सदस्य मरीज को रक्त दान करने अस्पताल पहुँचते हैं आगामी समय में सिकिलसैल एनीमिया के मरीजों सूची,पता,संपर्क नम्बर अपने पास रखनेवाले हैं जिसमें यह भी जानकारी रहेगी कि किस मरीज को कब,और कितना रक्त आवश्यक होगा । फिर रक्त दान करने के लिये संगठन के सदस्य खुद ही रोगी को बुलायेगें और उसके जीवन की रक्षा के लिये रक्तदान करेगें।


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1