• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2018 |

इस दिपावली अश्विनी भी मनाएगी आनन्‍द की फूलझडि़यां

प्रेषक का नाम :- सचिन दुबे
स्‍थल :- Badwani
23 Oct, 2017

इस दिपावली अश्विनी भी चलाएगी आनन्द की फूलझड़ियां दीपोत्सव का त्योहार हो और कोई बच्चा उसे दूर से ही बस निहारे यह कैसे हो सकता है ? भला कैसे उस त्यौहार का उत्सव परिजन व माता-पिता मना सकते है ? बिना उस बच्चे की सहभागिता के हमारे सभी त्यौहार बिटिया को गोदी में लेकर मायूसी के साथ ही विगत दो वर्षों से सम्पन्न होते आऐ हैं, उक्त बातें जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र आशाग्राम ट्रस्ट बड़वानी में बच्ची अश्विनी को लेकर आऐ उसके दादाजी सखाराम जमरे व ताऊजी सुनिल जमरे निवासी भोरवाड़ा ने कही। अश्विनी की आयु दो वर्ष है तथा जन्म से ही बाऐं पैर का आधा हिस्सा तथा दाऐं पैर की ऊँगलियाँ नहीं होने से परिवार के सभी सदस्य परेशान रहने लगे थे ऐसे में हमें आशाग्राम ट्रस्ट बड़वानी द्वारा संचालित दिव्यांगजन हितार्थ कार्यों की जानकारी मिली जिसपर हम तत्काल अश्विनी को जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र लेकर पहुंचे जहाँ केन्द्र के विशेषज्ञ के मागदर्शन में पैर तैयार किया गया तथा अश्विनी को पैर लगाकर ट्रायल लिया गया जिससे वह बहुत खुश नजर आई मानों उसकी दिपावली आज ही प्रारंभ हो गई जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र के प्रभारी श्री मणीराम नायडू ने बताया कि अश्विनी को जन्म से घुटने के नीचे का हिस्सा पूरी तरह नहीं बन पाया था जिसे बिलो नी प्रोस्थेसिस दिया गया जिससे वह अब चल सकेगी तथा यह प्रक्रिया शारीरिक विकास के अंतिम दौर तक चलती रहेगी। बालिका अश्विनी को ट्रायल के समय आशादीप आनन्द क्लब आशाग्राम के सदस्यों ने उत्साहवर्द्धन किया। अध्‍यक्ष सचिन दुबे आशादीप आनन्‍द क्‍लब


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1