"मिट्टी के श्री गणेश जी विसर्जन कार्यक्रम के अंतर्गत प्रकृति और पर्यावरण शुद्धयता की समझ विकसित होने से उज्जैनवासी हुए आनंदित"

प्रेषक का नाम :- (राजीव पाहवा,प्रेरक आनंदक एवं संचालक-रूपांतरण क्लब, बरखा कुरील, उपाध्यक्ष-रूपांतरण क्लब एवं, शैलेन्द्र सिंह डाबी, जिला आनंद सहयोगी)
स्‍थल :- Ujjain

रूपांतरण आनंद क्लब द्वारा अगस्त में आयोजित मिटटी के गणेश- सीखो और सिखाओ कार्यशाला के दौरान निर्मित श्री गणेश जी के विसर्जन घर के आंगन या गमले में कर पौधा रोपित कर प्रकृति और पर्यावरण शुद्धयता प्रदान कर घर में पवित्रता और श्री गणेश जी का आशीर्वाद हमेशा प्राप्त करने के जागरूकता उज्जैन शहर में फैलाकर सभी को आनंदित रहने के एक नए और अच्छे विचार की पहल शुरू की, इस बार कार्यशाला के प्रतिभागी और भी उत्साहित और आनंदित रहे की उनके द्वारा अपनी मिटटी से बनाये श्री गणेश जी से पर्यावरण तो शुद्ध बना ही है साथ में उनका आशीर्वाद उनके आंगन या गमले में पौधा बनकर हमेशा बना रहेगा ! रूपांतरण क्लब की इस अनूठी पर्यावरण और सत्यता हितैषी पहल से उज्जैन आनंदित रहेगा और लोगो में पर्यावरण संरक्षण और जीवन में सत्यता व् पवित्रता का आत्मसात कर आनंदित रहने का अनुभव महसूस करते रहेंगे ! कार्यक्रम का समन्वय "श्री राजीव पाहवा एवं बरखा कुरील " ने किया !


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1