आए थे टावेल लपेटकर गए “”सूट-बूट””में

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर मंड़ल संयोजक जनजाति कार्य विभाग/आनंदम् सहयोगी
स्‍थल :- Mandla
25 Feb, 2019

मण्‍डला जिला  मुख्‍यालय पर ग्रामीण क्षेत्रों से नगर में काम की तलाश में बहुतायत लोग आ तो जाते हैं।  ये तो ग्रामीण हैं इन्हें नहीं पता कि आगामी समय में ठंड कैसी रहेंगी, और इनके पास संसाधन भी इतने नहीं होते कि मौसम की मार को झेलने लायक कपडेे ले सके।  इन ग्रामीण को जब आनंदम ( दुआओं का घर) मंडंला के विषय में जानकारी लगती है । तो वहॉं से अपने लिए  आवश्‍यक वस्‍तुए लेने आ जाते हैं। 

    इसी क्रम में आनंदम् में यशवंत मरावी ग्राम-कोको विकास खंड बिछिया के निवासी सादे पेंट/शर्ट की तलाश में आये थे। लेकिन इनको कोट-पेंट के विषय में बताया तो प्रारंभ में मना किया ।  लेकिन बाद में स्‍वीकार कर लिया। इसी तरह से मंड़ला नगर के रिक्सा चालक भी. आनंदम् आकर नये-नये सूट-पेंट पहनकर गए।  आनंदम में रखे कोर्ट-पेंट पहनने में यशवंत मरावी की मैने मदद की तो यशवंत मरावी ने कहा कि यहाँ जरूरतमंद आते तो टावेल में और जाते हैं””सूट-बूट’’में.


फोटो :-