आनंदम् केन्‍द्र बच्चों के चेहरों में लाता है खुशी

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर , आनंदम सहयोगी
स्‍थल :- Mandla
29 Nov, 2018

बच्चे चाहे छोटे हों या बड़े आनंदम् ( दुआओं का घर ) मंड़ला में प्रवेश करते ही उनके चेहरों  पर खुशी आ जाती है, और यह खुशी स्पष्ट झलकती है। आनंदम् ( दुआओं का घर) मंड़ला में लगभग हर दिन बच्चे अपनी मां के साथ आते हैं । ग्रामीण /माताओं को जब नैपकिन,टाबिल, मच्छरदानी, छाता, दूध निपुल, झूले, छोटे कंबल, बच्चों के वाकँर, की आवश्यकता /उपयोग बताया जाता है तो माताओं की खुशी स्पष्ट दिखाई देती है। वहीं एक वर्ष के बच्चे स्वयं अपने लिए आवश्यक वस्तुऐं का चुनाव करना सीख  रहे हैं। वे केन्‍द्र पर अपने लिए  कपडे़, खिलौनै, पुस्तकें, टिफिन, बिस्किट, आदि वस्तुऐंं प्राप्त कर आनंदित हो रहे हैं।




डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1
Document - 2
Document - 3


वीडियो :-

Video - 1