हर दिन 1 घंटे रख सकते हैं मोबाइल उपवास;अल्पविराम के सत्र "खुद से मुलाकात"  में निकली बात

प्रेषक का नाम :- *Manamohan bairagi pradeep pandey katni anand club*
स्‍थल :- Katni
19 Sep, 2018

आज जीविका आईटीआई कटनी में आनंद अल्पविराम का सेशन अनिल कांबले एवं आनंदक मनीषा कांबले द्वारा किया गया जिसमें सर्वप्रथम मध्य प्रदेश आनंद विभाग की गतिविधियों का संक्षिप्त परिचय आनंद विभाग द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यों की जानकारी सभी को दी गई एवं विस्तृत रूप से अल्पविराम की अवधारणा से परिचित कराया गया

 श्रीमती मनीषा कांबले एवं अनिल कांबले द्वारा सेशन का शुभ आरंभ एक गीत "देखो देखो यह बहारें" से किया गया तत्पश्चात श्रीमती मनीषा कांबले द्वारा फ्रीडम क्लास के माध्यम से यह बताया गया कि उन्होंने अपने भीतर के अवगुणों को किस तरह दूर करने का प्रयास किया और अभी भी उस पर निरंतर प्रयास जारी है lउनके द्वारा बताया गया कि जब हमारे मन में लोगों के प्रति ईर्ष्या नफरत, जलन, द्वेष, क्रोध, दुश्मनी भरी पड़ी है तब हमारे मन में लोगों के प्रति अच्छे विचार किस तरह रह सकते हैं इसलिए हमें कुछ प्रयासों से अवगुणों को बाहर निकालना पड़ेगा और यह अवगुण तभी बाहर निकल सकते हैं जब हम अपने भीतर लोगों के प्रति प्रेम, दया, सहिष्णुता, सहयोग, कृतज्ञता आदि के भाव अपने भीतर समाहित करेंगे तो स्वयमेव उन दुर्गुणों का हमारे मन में, हमारे दिल में कोई स्थान ना होगाl उसके बाद सभी लोगों ने अपने भीतर से दुर्गुण निकालने हेतु 10 मिनट का अल्पविराम लिया व अपने विचारों की शेयरिंग की l

 श्री अनिल कांबले जी द्वारा एक सेशन रिश्तों पर लिया गया जिसमें बताया गया कि हमारे जीवन में छोटे-छोटे रिश्ते कितने महत्वपूर्ण होते हैं यदि हमें अपने रिश्ते मधुर बनाना है तो जो रिश्ता जैसा है हमें उसी रूप में स्वीकार करना होगा lहमारे रिश्ते विवाद से नहीं संवाद करने से मधुर होते हैं lकुछ रिश्ते यदि हमारी गलती से बिगड़े हैं तो हम उसके लिए माफी मांग ले और यदि कुछ रिश्ते दूसरों के कारण बिगड़े हैं तो उन्हें माफ कर उनसे बातचीत करें तभी हमारे रिश्ते सुधर सकते हैंl हमारे जीवन में रिश्तो की बहुत अहमियत है इन्हें हमेशा मधुर बनाए रखना चाहिए l अल्पविराम हेतु सभी को एक प्रश्न दिया गया कि "हमारे रिश्ते खराब होने की क्या वजह है" सभी ने अपनी शेयरिंग की, रिश्ते खराब होने की एक मुख्य वजह सभी ने मोबाइल को भी बताया तो आज के सेशन में सभी ने निश्चय किया है कि, अब प्रतिदिन कम से कम हम अपने आप को एक घंटा मोबाइल से दूर रखेंगे और इस समय अवधि को बढ़ाएंगे सेशन का समापन" कौन है जिम्मेदार "गीत से किया गया l

सेशन का आयोजन कटनी आनंद क्लब के श्री प्रदीप पांडे जी, एवं मनमोहन बेरागी जी द्वारा किया गया आज के सेशन में जीवका ITI के प्राचार्य श्री मिश्रा जी, सूरज बाल्मीकि, पंकज चौबे बद्री प्रसाद तिवारी, नवनीत चतुर्वेदी अमित गौतम, राकेश राजपूत, पंकज गुप्ता, चंद्रकांत पांडे, अनिल कुमार तिवारी, अभय सिंह ठाकुर (विक्की भैया, कनक सायबर) एवं अन्य की उपस्थिति एवं सहयोग रहा l


फोटो :-