विकलाँगों/वृद्धों की सेवा करने से आनंद मिलता है।

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौरए आनंदम सहयोगी मंड़ला
स्‍थल :- Mandla
24 Sep, 2018

विकलाँगों/वृद्धों की सेवा करने से आनंद मिलता है। पिछले दिनों एक सज्‍जन जो व्हीलचेयर से अपनी जरूरत का समान लेने आनंदम् ( दुआओं का घर ) आए।  हाथ पैर से लाचार होने के कारण उसकी आवश्यकता और नाप का अनुमान लगाकर आनंदम सहयोगी ने उनके लिए कपड़े,टोपी,धार्मिक पत्रिकाएं निकालकर उसकी व्हीलचेयर में रखे।

इसी प्रकार दो वृद्ध महिलाएं आनंदम् केन्‍द्र आकर अपने लिए साडि़यों की आवश्यकता बताई केन्‍द्र पर उपस्थित आनंदम सहयोगी ने उनकी व़द्वावस्‍था के कारण उनको बैठाकर उनके पसंद की कपड़े निकालकर दिये तो उन्होनें भी आनंदम् स्थल प्रारंभ करने के म.प्र.शासन को आशीर्वाद दिया। ….साथ ही हमारे आनंदम सहयागियों  द्वारा की गई मदद् से खुश होकर “”दूधो नहाओ पूतो फलों”” जैसै बहुत सारे आशिर्वचन कहे। आनंदम केन्‍द्र पर उपस्थित आनंदम  सहयोगियों का कहना हैं ि‍कि इससे उनके  मन में भी इस कार्य को सतत करने की ताकत मिली।


फोटो :-