शिक्षक दिवस पर शिक्षक ने किया रक्तदान:-" प्रत्येक मनुष्य को समाज उपयोगी बनाना ही शिक्षा और शिक्षक का उद्देश्य है 

प्रेषक का नाम :- प्रफुल्ल शर्मा आनंदम सहयोगी इंदौर
स्‍थल :- Indore
12 Sep, 2018

शिक्षक दिवस पर आनंदम सहयोगी इंदौर श्री विजय मेवाड़ा जो एक शिक्षक हे, उनका कहना है कि विद्यादान के अतिरिक्त यह समाज जिसके हम अंश है जो समाज हमें पोषित करता हे उसमे प्रति भी हमारे मानवीय कर्तव्य है हमें उनका भी निर्वहन करना चाहिये ताकि हमारे छात्र छात्राएं में भी समाज सेवा का भाव विस्फुटित हो।

श्री विजय ने कहा कि शिक्षक दिवस पर एक शिक्षक के रूप में अपने मानवीय कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए,महाराजा यशवंतराव चिकित्सालय इंदौर के ब्लड बैंक जाकर रक्तदान किया।रक्तदान मानव जाति के लिए सबसे महत्वपूर्ण सामाजिक सेवा है एक इंसान होने के नाते, हमें दूसरों के जीवन को बचाने के लिए रक्त दान करना होगा। रक्त दान के माध्यम से, हम विभिन्न जरूरतमंद लोगों की मदद कर सकते हैं और उनके अनमोल जीवन को बचा सकते हैं। एक सामान्य और स्वस्थ व्यक्ति 18 से 60 साल के बीच कई बार रक्त को आसानी से दान कर सकता है। सही समय पर रक्तदान दुनिया भर में हर साल लाखों जीवन बचा सकता है। रक्तदान करने से आपको कोई भी परेशानी नहीं होती। कृपया आप भी एक स्वैच्छिक रक्तदाता बनें। 


फोटो :-