आज एक बेसहारा गर्भवती महिला की मदद करने का मिला मौक़ा ।

प्रेषक का नाम :- श्री यश पाराशर रक्तमित्र /विजय मेवाड़ा आनंदम सहयोगी इंदौर
स्‍थल :- Indore
04 May, 2018

आज एक बेसहारा गर्भवती महिला की मदद करने का मौक़ा मिला। महिला का नाम सोनाली है वह अकेली गर्भवती महिला पिछले तीन दिन से इन्दौर ज़िला अस्पताल मे dilevary के लिए भटक रही थी महिला को 9माह से ज़्यादा हो गए है लेकिन रक्त की उपलब्धता ना होने के कारण महिला का ceaser delivery operation नही हो पा रहा था। फिर मित्र Niteen Dharkar जी के माध्यम से मुझे सुचना प्राप्त हुई। सुचना मिलते ही मे यश पाराशर “रक्तमित्र” , संदीप जी शर्मा, मनोज जी तिवारी , अब्दुल जी खान हम सभी महिला की मदद के लिए MY हॉस्पिटल से ब्लड लेकर जिला अस्पताल पहुँचे। गर्भवती महिला के लिए पं. Ankit Khale जी एक ही फ़ोन पर दोपहर तेज़ गर्मी मे रक्तदान करने आए। जिला अस्पताल पहुँच कर महिला से बात करके पता चला कि वह धार की रहने वाली है और धर्म परिवर्तित करके प्रेम विवाह किया था इसलिए घर वालों ने घर से निकाल दिया और जिसके साथ धर्म परिवर्तित करके प्रेम विवाह किया था उस आदमी ने भी महिला को गर्भवती करके छोड़ दिया और धर्म परिवर्तित करके प्रेम विवाह करने के कारण कोई भी साथ भी नही दे रहा है जिसके कारण उसके साथ कोई नही है और वह अकेली हो गई। महिला की जानकारी लेने के बाद फिर हमने ज़िला अस्पताल के Sr. Dr. Vidhya Mam से बात कि Dr. Vidhya Mam ने बताया कि जिला अस्पताल से MY अस्पताल में ceaser delivery operation किया जाए तो अच्छा रहेगा क्योंकि वहाँ टेक्नोलॉजी अधिक है और इनका केस बहुत क्रिटिकल MY Hospital अधिक सुविधाएँ है। फिर महिला को एम्बूलैंस के माध्यम से एमवाय अस्पताल शिफ़्ट किया गया। अभी महिला MY Hospital के डिलेवरी वार्ड में एडमिट हुई। आप सभी के आशिर्वाद से सोनाली जी को एक सुन्दर से पुत्र की प्राप्ति हुई है । देर रात 2:15 AM पर Dr का फ़ोन आया और उन्होंने बधाई देते हुए कहा कि Opreation successful हो गया है सोनाली को पुत्र हुआ है । और अभी मॉ और बच्चा दोनों सुरक्षित है । महिला को A+ Blood लग रहा है। Yash Parashar “रक्तमित्र”


फोटो :-