“आत्मा की आवाज” सुनकर दौड़े रक्तदान करने

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर मंड़ल संयोजक जनजातीय कार्य विभाग/आनंदम् सहयोगी
स्‍थल :- Mandla
16 Apr, 2018

“आत्मा की आवाज” सुनकर दौड़े रक्तदान करने रामचरित मानस में गोस्वामीजी जी लिखते हैं “ परहित सरसि धर्म नहीं भाई । परपीड़ा सम नहींअधमाई।। इसका अक्षरशः पालन करते हुये गौसेवा एवं रक्तदान संगठन के सदस्य रक्तदान करने दौड़ पड़ते है। बीते दिन जिला चिकित्सालय मंड़ला में गंभीर रूप से जली हुई महिला भर्ती हुई है। जली हुई महिला का नाम सरिता बरमैया पति श्री शंभु बरमैया निवासी ग्राम-ठरका वि.ख.मंड़ला है। गंभीर रूप से जली हुई महिला को चिकित्सालय के पेंइग वार्ड में भर्ती कराया गया। महिला की हालत ऐसी कि ब्लड सेंप्ल लेने के लिये चिकित्सा कर्मियों को दो घंटे लगे। सरिता के शरीर में रक्त की कमी होने के कारण चिकित्सकों ने रक्त चढ़ाने को कहा। महिला को रक्त की आवश्यकता है और आत्मा की आवाज सुनकर गौसेवा एवं रक्तदान संगठन मंड़ला से वीरेन्द्र पटेल के द्वारा सरिता को रक्तदान किया गया।




डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1