• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है

Joy of giving से मिलती अद्वितीय खुशी:-विजय मेवाड़ा आनंदम सहयोगी :-इंदौर

प्रेषक का नाम :- श्री विजय मेवाड़ा आनंदम सहयोगी
स्‍थल :- Indore
09 Apr, 2018

आनंदम कार्य आज दोपहर जेलरोड इंदौर बोर्ड आफिस के पास में कुछ देर रुका एक व्यक्ति जो जिसकी दाड़ी बड़ी हुई फटे मैले कपड़े पहने मुझे टकटकी लगाकर देख रहा था। मैंने भी उसकी प्रतिक्रिया देखी और नजरअंदाज कर दिया। कुछ देर बाद वह आया और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया।मैन भी उससे प्रश्न किया- भाई तुझे क्या चाहिए? वह कुछ नही बोला,आस पास के लोग बोले सर ये पागल है ऐसे भगा दो, मैन फिर प्रश्न किया- क्या चाहिए तुझे उसने बिना बोले खाने की ओर इशारा किया। में समझ गया।और पास की दुकान से उसके लिये खाना लाया और उसे दिया। वो सीढ़ी पर बैठकर खाना खाने लगा और पहला निवाला तोड़ते हुए उसने मुझसे पूछा-"काका आप भी खाना खा लो"। उसके इस वाक्य मन को अद्भुत खुशी मिली जहां इस देश मे समझदार कहलाने वाले लोग धर्म और जात पात,के लिए मर रहें है,उस कमजोर दिमाग वाले ने मुझसे खाने का पूछकर joy of giving और आपसी भाईचारे का सबक मुझे भी सीख गया। यदि अच्छाई बांटों तो प्रतिफल में अच्छाई ही मिलती है।


फोटो :-