इंदौर आनंद उत्सव में निदेशक राज्य आनंद संस्थान ने की सहभागिता और आयोजन कि सराहना ।

प्रेषक का नाम :- मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत इंदौर ,विजय मेवाड़ा
स्‍थल :- Indore

*आनंद उत्सव में निदेशक आनंद विभाग ने लिया खेलों का आनंद*
राज्य आनंद संस्थान म प्र शासन द्वारा पुरे प्रदेश में जारी आनंद उत्सव के तहत सांवेर तहसील के ग्राम कदवाली बुजुर्ग में जारी आनंद उत्सव में राज्य आनंद संस्थान भोपाल के निदेशक श्री प्रवीण गंगराड़े शामिल हुए ।कार्यक्रम का उद्देश्य ग्रामीणों जो समयाभाव और ,विभागीय और पारिवारिक दायित्वों के चलते अपनी प्रतिभाओं को विलोपित कर देते हैं।अतएव सभी आयु वर्ग के लोगों को पारंपरिक खेलों और सांस्कृतिक कार्यक्रमो से जोड़कर आपसी उनके जीवन में आनंद उमंग और उत्साह का संचार हो इसी उद्देश्य को सार्थक रूप देते हुए ।ग्रामीणो की विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई ।जिसका उद्घाटन श्री प्रवीण गंगराड़े निदेशक आनंद विभाग, श्रीमति निशिबला सिंह मुख्यकार्यपालन अधिकारी जनपद सांवेर सरपंच श्रीमती कृष्णा शुभाष चौधरी , ए डी ओ रमाकांत शर्मा राज्य आनंद संस्थान के आनंदम सहयोगी एवम कार्यक्रम समन्वयक श्री विजय मेवाड़ा द्वारा किया गया। कार्यक्रम अंतर्गत गतिविधियों का सञ्चालन श्री महेंद्र चौहान, मनीषा,ज्योति राठौर विनोद दामके मंजु सुनहरे परांजपे,सतीष चौधरी,संतोष वर्मा,अनीता दुबे,नितेश जोशी ,दिनेश जोशी,मनोज दुबे आदि द्वारा एक एक गतिविधि का सञ्चालन किया। कार्यक्रम आयोजन एवम रुपरेखा में ऊर्जावान सरपंच प्रतिनिधि श्री शुभाष चौधरी की विशेष भूमिका रही। मंच संचालन श्री प्रवीण पाराशरआनंदम जिसमें 70 वर्ष से ऊपर की महिलाओं ने गिल्ली डंडे के शॉट लगाये,रस्सा कस्सी प्रतियोगिता जिसमे एक और सभी महिलाएं तथा दूसरी और पुरुषों के टीम लीडर श्री प्रवीण गंगराड़े जी के समूह द्वारा प्रतियोगिता पुरे कसमकस के साथ हुई पुरुष जीत की कगार पर पहुँच ही चुके थे की अचानक बच्चों ने वानरसेना की तरह धावा बोल अपनी मम्मियों को जिताया महिला टीम की प्रमुख सरपंच श्रीमती कृष्णा शुभाष चौधरी थी।30-40 वर्ग समूह की महिलाओं ने पारंपरिक खेल मौसम्पा बाई मौसम्पा,और लंगड़ी पव्वा एवम एवम महिला गायन प्रतियोगिता 40-50आयु वर्ग महिला 100 मीटर रेस एवम गांव की उपस्थित दिव्यांग महिलाओं द्वारा केरम और अंगबंग चोक चंग में भाग ले आनंद उठाया।पुरुष वर्ग में बुजुर्गों हेतु प्राचीन खेल चौसर, और कौड़ी एवम युवाओ हेतु बोरा रेस ,ग्राम के सबसे बुजुर्ग श्री शंकर भोले द्वारा श्री गंगराड़े जी की उपस्थिति में अपनी स्वरचित कविताओं का पाठ कर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। 40 से 50 वर्ग में क्रिकेट का आयोजन हुआ। अंत म आनंदम सहयोगी विजय मेवाड़ा द्वारा आनंद उत्सव के उद्देश्य के विषय में अवगत कराया।सैकड़ों लोगो का गोल घेरा बनाकर "मैं आनंद में दुनिया आनंद में"गतिविधि द्वारा सब में आनंद का भाव विस्फुटित किया। उपस्थित सभी सहभागियों का श्री शुभाष चौधरी द्वारा आभार व्यक्त किया गया।


फोटो :-

   

वीडियो:-

Video - 1