• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

अल्पविराम इंदौर :-ऐसा लगा मानो बचपन फिर लौट आया हो:-आनंद विभाग की गतिविधियो में सहभागिता के जिला पंचायत अध्यक्षा, विधायक,अपर कलेक्टर आदि ने अनुभव किये साझा

प्रेषक का नाम :- मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत इंदौर एवम विजय मेवाड़ा आनंदम सहयोगी ,अरविंद शर्मा समन्वयक
स्‍थल :- Indore
16 Nov, 2017

इंदौर जिला प्रशासन एवं आनंद विभाग द्वारा आयोजित 3 दिवसीय आनंद में  जिला पंचायत अध्यक्षा सुश्री कविता पाटीदारजी,विधायक सुश्री उषा ठाकुर जी मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत एवं नोडल आफिसर आनंद विभाग श्रीमती कीर्ति खुरासिया जी,अपर कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान,एडिशनल ceo मधुलिका शुक्ला जी जिला पंचायत  एवम अन्य अधिकारी कर्मचारियों को अल्पविराम का अभ्यास कराया गया।,श्री अक्षय सिंह राठौर,आनंदम सहयोगी विजय मेवाड़ा प्रफुल्ल शर्मा द्वारा अल्पविराम कार्यक्रम आयोजित किया गया।आनंदम सहयोगी विजय मेवाड़ा द्वारा आनंदम गतिविधि करवाई जिसमे सभी को एक एक स्माइली आइकॉन बना गुब्बारा देकर कहा गया कि जो भी सबसे बड़ा गुब्बारा फुलाकर नोड देगा वह विजेता कहलायेगा। फिर क्या था विधायक अध्यक्ष एवम ceo जिला पंचायत , अपर कलेक्टर एवम अन्य मंच पर आसीन लोगो ने अपने अपने गुब्बारे को बड़ा फूलने का प्रयास किया जैसे जैसे गुब्बारे फूटते लोगो का आनंद और उत्साह बढ़ता गया, अंततः प्रथम स्थान पर श्रीमती रुचिका चौहान उपर कलेक्टर ,द्वितीय सुश्री उषा ठाकुर विधायक ,तृतीय विष्णुप्रसाद राठौर रहे। इसके बाद सभी लोगो ने कागज की नाव बनाई,सांप सीढ़ी खेली,अंत में सभी प्रतिभागियों का प्रतिनिधित्व करते हुए सुश्री कविता पाटीदार ने कहा जीवन की भाग दौड़ में हम खुद को ही भूल गए थे यहाँ आकर ऐसा लगा जैसे बचपन पुनः लौट आया हो हम कौन है क्या है हमारा सब भूलकर बच्चों की तरह खेलना अद्वितीय आनंद हे।अंत में कहा मुझे जगजीत सिंह जी की ग़ज़ल याद आई :- मगर मुझको लौटा दो बचपन का सावन, वो कागज़ की कश्ती वो बारिश का पानी.....


फोटो :-

      

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1


वीडियो:-

Video - 1