• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

मीटिंग समय से प्रारंभ और समाप्त करने का लिया संकल्प जनपद बड़ामलहरा में अल्पविराम के बाद कर्मचारियों का निर्णय

प्रेषक का नाम :- छतरपुर आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी
स्‍थल :- Chhatarpur
30 Oct, 2017

मीटिंग समय से प्रारंभ और समाप्त करने का लिया संकल्प
जनपद बड़ामलहरा में अल्पविराम के बाद कर्मचारियों का निर्णय
छतरपुर। जनपद पंचायत बड़ामलहरा के सभाकक्ष में आनंद विभाग के अल्पविराम कार्यक्रम में सम्मिलित होने के बाद उपस्थित सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने कहा कि भविष्य में अब सभी बैठकों में वह समय से पहुंचेंगे, जनपद सीईओ अजय सिंह ने कहा कि सभी बैठकों को निर्धारित समय पर अनिवार्यता समाप्त किया जाएगा।
बड़ामलहरा जनपद क्षेत्र के अधिकारियों कर्मचारियों हेतु अल्पविराम के 4 प्रशिक्षण सत्र आयोजित किए गए। आनंदम सहयोगी लखनलाल असाटी ने सभी को अपनी आत्मा की आवाज सुनने के अभ्यास हेतु अल्पविराम का प्रशिक्षण पूरा कराया। पहले सत्र में जनपद पंचायत के 31 कर्मचारी हेतु, दूसरे सत्र में 66 पंचायत सचिवों हेतु, तीसरे सत्र में 71 ग्राम रोजगार सहायकों हेतु तथा चौथे सत्र में कृषि एवं महिला बाल विकास विभाग के 31 कर्मचारियों हेतु अल्पविराम का प्रशिक्षण सत्र आयोजित किया गया। अल्पविराम लेने के बाद अधिकारियों, कर्मचारियों ने कहा कि वे प्राय: बैठकों में विलंब से उपस्थित होते हैं जिस कारण बैठकें निर्धारित समय के बाद भी चलती रहती हैं और उनका पूरे दिन का कार्यक्रम गड़बड़ा जाता है। खासकर मैदानी अमले जिसका एक-एक दिन महत्वपूर्ण होता है उसके लिए जनपद मुख्यालय पर बैठकों में पूरा दिन खराब कर देना उनकी कार्यप्रगति को बाधित करता है। अब वे प्रत्येक बैठक में निर्धारित समय पर उपस्थित हो जाएंगे। जनपद सीईओ ने कहा कि वह निर्धारित समय पर बैठक को समाप्त भी करेंगे। अल्पविराम में जनपद सीईओ अजय सिंह के अलावा विकास विस्तार अधिकारी राजेन्द्र सिरवईया, उपयंत्री भूपेन्द्र अनुरागी, पंचायत निरीक्षक मुकेश कुमार नगरिया, लिपिक राजाराम पाण्डेय एवं पुष्पेन्द्र सिंह बुन्देला ने विचार व्यक्त किए। पंचायत सचिवों में मोहनलाल तिवारी, जगदीश अवस्थी, लीला अहिरवार आदि ने अपने विचारों को व्यक्त किया। कृषि विभाग के भरत दुबे, एनके जैन, एलएल गुप्ता आदि ने अपने विचार व्यक्त किए।


फोटो :-

   

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1