जिला पंचायत में अल्पविराम कर तीसरा सत्र संपन्न जीवन में मर्यादा और अनुशासन जानने के लिए रखा मौन

प्रेषक का नाम :- आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur
11 Oct, 2017

जिला पंचायत में अल्पविराम कर तीसरा सत्र संपन्न
जीवन में मर्यादा और अनुशासन जानने के लिए रखा मौन
छतरपुर। जिला पंचायत सभा कक्ष में सोमवार को अधिकारियों और कर्मचारियों को मौन रहकर उनकी अपने जीवन में मर्यादा और अनुशासन का क्या स्थान है। इस पर अल्पविराम लिया। मौन रहकर अपनी आत्मा की आवाज सुनने के कार्यक्रम अल्पविराम का उद्देश्य सरकारी कर्मचारियों में के विचारों को और अधिक सकारात्मक करना है।
आनंदम सहयोगी लखन लाल असाटी ने अल्पविराम कार्यक्रम का तीसरा प्रशिक्षण सत्र पूरा कराया। जिसमें मर्यादा और अनुशासन पर लोगों ने अपने अपने विचार रखे। मनरेगा में लेखा अधिकारी शशांक शेखर मिश्रा, एमडीएम में क्वालिटी मैनेजर अंजना खरे, टास्क मैनेजर कविता खरे, तकनीकि सहायक ऊषा यादव, कमलाकांत खरे, अशोक कुमार रावत, कार्यालय अधीक्षक अरुण कुमार नायक, राकेश चंद्र अरजरिया, सीनियर डाटा मैनेजर, नितिन श्रीवास्तव, डाटा एंट्री ऑपरेटर आरपी सोनी, भृत्य गोपाल रैकवार, राजेश रैकवार, हरचिरण बाल्मीकि और सुचित्रा चौरसिया अल्पविराम कार्यक्रम में शामिल हुए। कर्मचारियों ने अपने विचार साक्षा करते हुए कहा कि मर्यादा व्यक्ति के द्वारा खुद के लिए निश्चित की जाती है और अनुशासन दूसरों पर लागू किया जाता है। परिवार के मुखिया अथवा संस्था के मुखिया का अनुशासन इतना अधिक नहीं होना चाहिए कि घर और संस्था जेल लगने लगे।


फोटो :-

   

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1