ANANDAM ALPVIRAM AT JILA PANCHAYAT INDORE

प्रेषक का नाम :- ARVIND SHARMA
स्‍थल :- Indore
08 Sep, 2017

इंदौर 23/08/2017 को कार्यालय कलेक्टर और जनप्रतिनिधीयों का संयुक्त रूप से हुआ दो सत्रों
का अल्पविराम। कार्यक्रम में का उद्देश्य आनंद विभाग और उसकी गतिविधियों को
ग्रामीण क्षेत्रों तक प्रचारित करना और संचालित करना था इस अल्पविराम सह बैठक
में जिला पंचायत अध्यक्ष सुश्री कविता पाटीदार, उपर कलेक्टर एवं नोडल अधिकारी
आनंद विभाग श्रीमती कीर्ति खुरासिया, अतिरिक्त मुख्यकार्यपालन अधिकारी जिला
पंचायत श्रीमती मधुलिका शुक्ला,उपाध्यक्ष गोपाल सिंह चौधरी,दिनेश
तिवारी,पुरुषोत्तम धाकड़,सोनम निनामा,ललिता निनामा,लीलाबाई यादव,सीमा राठौर
शांता बाई आदि जिला पंचायत सदस्य एवम महू विधायक कैलाश विजयवर्गीय जी के
प्रतिनिधि श्री चिंटू वर्मा, एवम राऊ विधायक श्री जीतू पटवारी के प्रतिनिधि
श्री आशीष चौधरी ।एवम शासकीय अमले से पी. एच. इ. स्वास्थ्य महिला बालविकास
,एवम शिक्षा ऐसे विभाग जो जमीनी स्तर पर जनता से जुड़े हे उन्हें  नोडल अधिकारी
श्रीमती खुरासिया मेडम और समन्वयक श्री अरविन्द शर्मा जी द्वारा आनंद विभाग के
उद्देश्य , देश में गिरता हैप्पीनेस स्केल,आनंद विभाग द्वारा संचालित
कार्यक्रम आनंद उत्सव, आनंद क्लब, आनंदम अल्पविराम, आगामी कार्यक्रम आनंद सभा
के विषय में विस्तृत जानकारी दी गई।साथ ही इंदौर जिले में आयोजित आनंद उत्सव
की गतिविधियों का प्रदर्शन पावर पॉइन्ट प्रेजेंटेशन   के माध्यम से प्रोजेक्टर
स्क्रीन पर प्रदर्शित किया गया। पुरे हॉल में आनंद का माहौल बन चूका था।उसी
आनंद को और बढ़ाते हुए आनंदम सहयोगी विजय मेवाड़ा व् प्रफुल्ल शर्मा द्वारा
आनंदम अल्पविराम का संक्षिप्त परिचय देते हुए आनंदम अल्पविराम का अभ्यास कराया
जिसमे सभी को प्रेरणास्पद फिल्म दिखाकर कुछ प्रश्नों पर आत्मचिंतन साथ ही
गतिविधियों द्वारा सभी आनंदित हुए।प्रभाव यह रहा की सभी प्रतिभागियों ने विशेष
निवेदन पर उसी दिन अल्पविराम एक सत्र और आयोजित करवाया।प्रथम सत्र सुबह 1100
से 12:30 एवम द्वितीय सत्र 2 :00 से 3:30 तक रहा।साथ ही जनप्रतिनिधियों से
उनके क्षेत्र में चल रहे आनंदम स्थलों के सफल सञ्चालन हेतु सहयोग करने का
आग्रह भी किया गया। जब हेतु सभी ने पूर्ण सहयोग करने का आश्वासन दिया। साथ ही श्री अरविंद शर्मा जी ने सभी को आत्मीय आनंद पाने के माध्यम भी बताए जो इस प्रकार थे
- अजनबी से बात करना
- सहकर्मियों से।मित्रतापूर्ण व्यवहार करना।
- दूसरों को अच्छी पुस्तकें पढ़ने के लिए देना
- दूसरो द्वारा किये गए अच्छे काम को प्रोत्साहित करना
- घर बुजुर्गों के पास बैठकर उनसे बात करना और सलाह लेना उन्हें आनंदित करेगा।
- अपने बच्चों को पढ़ाना, परिवार और बच्चों को पर्याप्त समय दे घूमने जाएं, । कार्य आदि आपकी जीवन मे आनंद का कारण बनेंगे


फोटो :-