• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 दिसम्बर 2018 तक बढ़ा दी गई है |

आनन्द विभाग ग्वालियर की अभिनव पहल शासकीय विद्यालयों के हाई स्कूल उत्तीर्ण मेधावी छात्र-छात्राओं की करवाई केरियर काउन्सिलिन्ग

प्रेषक का नाम :- शिवराज सिंह, एडीएम / डॉ सत्यप्रकाश शर्मा, आनन्दम सहयोगी ग्वालियर
स्‍थल :- Gwalior
23 Jun, 2017

आनन्द विभाग ग्वालियर की अभिनव पहल शासकीय विद्यालयों के हाई स्कूल उत्तीर्ण मेधावी छात्र-छात्राओं की करवाई केरियर काउन्सिलिन्ग शिवराज सिंह, एडीएम / डॉ सत्यप्रकाश शर्मा, आनन्दम सहयोगी ग्वालियर ग्वालियर / अक्सर देखा एवं सुना गया है कि यदि मेधावी छात्रों को हाई स्कूल / हायर सेकेण्डरी उत्तीर्ण करने के पश्चात उचित मार्ग दर्शन के अभाव में वे उस स्थान पर नहीं पहुँच पाये जहाँ उनका पहुँचना चाहिये था । इसी सोच को लेकर आनन्द विभाग ग्वालियर ने एक अभिनव पहल की है जिसके अन्तर्गत जिले भर के शासकीय विद्यालयों के उन छात्रों को जिनके हाई स्कूल परीक्षा में प्राप्तांक 80 प्रतिशत या उससे अधिक हैं के लिये २२ जून गुरुवार को जीवाजी विश्वविद्यालय के गालव सभागार में केरियर काउन्सलिंग समारोह रखा गया । आर्मी, एयरफ़ोर्स, बीएसएफ़, प्रशासनिक अफ़सर, संगीत विश्विद्यालय के प्राध्यापक व विभिन्न संस्थाओं के भिन्न-भिन्न विषयों एवं क्षेत्रों के जानकार व काउन्सलर ने छात्रों का विभिन्न क्षेत्रों में केरियर बनाने के लिये मार्गदर्शन किया । आनन्द विभाग व स्कूल शिक्षा विभाग ग्वालियर के संयुक्त प्रयास से कार्यक्रम का आयोजन किया गया । कार्यक्रम के मुख्य अथिति कलेक्टर डॉ संजय गोयल व अध्यक्षता एडीएम व आनन्द विभाग के नोडल आफीसर श्री शिवराज सिंह ने की अपर कलेक्टर श्रीमती रूचिका चौहान, आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा, ज़िला शिक्षा अधिकारी श्री विकाश जोशी, डीपीसी श्री जी के शुक्ला कार्यक्रम के विशिष्ट अथिति थे । कार्यक्रम का संचालन एपीसी श्री एस बी ओझा ने किया । इस अवसर पर कलेक्टर डॉ संजय गोयल ने छात्रों को संबोधित करते हुये कहा कि शासकीय विद्यालयों के मेधावी छात्र सही समय पर उचित मार्गदर्शन न मिल पाने के कारण अपने जीवन में उस ऊँचाई पर नहीं पहुँच पाते जहॉं उन्हें पहुँचना चाहिये था । शासकीय विद्यालयों के छात्रों में भी प्रतिभा भरपूर है लेकिन पैसे के अभाव में वह दब जाती है इसी सोच को लेकर कि क्यों न ८० प्रतिशत या उससे ऊपर अंक प्राप्त करने बाले छात्रों को विभिन्न बिषयों के जानकार व मिलिट्री व पैरामिलिट्री फोर्सेज के लोगों को बुलबाकर उनको उचित मार्गदर्शन दिलवाया जाये । उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के आयोजन के लिये आनन्द विभाग व शिक्षा विभाग ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है । कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुये आनन्द विभाग के नोडल ऑफ़िसर श्री शिवराज सिंह ने गाँव के शासकीय विद्यालय से पढ़कर एडीएम पद तक आने की अपने जीवन की संघर्ष पूर्ण कहानी साझा करते हुये छात्रों को मोटिवेट किया । अपर कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने भी छात्रों को संम्बोधित किया । आईआईटी-जईई में ग्वालियर-चम्बल संभाग से एआईआर- ७३ रैंक हासिल करने वाले तथा गणित बिषय में १२२ में से १२२ अंक हासिल करने वाले छात्र रविराज सिंह का इस अवसर पर कलेक्टर ने सील्ड प्रदान कर सम्मान किया । रविराज सिंह आनन्द विभाग ग्वालियर के नोडल अधिकारी एवं एडीएम श्री शिवराज सिंह के पुत्र हैं। कार्यक्रम में भारतीय सेना, इण्डियन एयरफ़ोर्स व बीएसएफ़ के अधिकारियों ने छात्रों को सेना के क्षेत्र में बेहतर भविष्य बनाने की जानकारी दी । अनेक कोचिंग संस्थानों के काउन्सलर ने भी सुनहरा भविष्य वनाने की जानकारी दी । कार्यक्रम के अन्त में प्रश्नोत्तर सत्र रखा गया जिसमें छात्रों की जिज्ञासाओं का समाधान कलेक्टर डॉ संजय गोयल, एडीएम श्री शिवराज सिंह, आनन्दम सहयोगी डॉ सत्यप्रकाश शर्मा व सेनाओं के अधिकारी तथा कोचिंग्स के एक्सपर्ट ने किया । कलेक्टर डॉ संजय गोयल व एडीएम श्री शिवराज सिंह ने अखिलभारतीय व राज्य स्तर की प्रशासनिक व पुलिस सेवाओं की भी जानकारी दी गई । कार्यक्रम में छात्रों के माता पिता भी उपस्थित थे ।


फोटो :-