मेरे जैसे सब हो जाएं तो छतरपुर की तस्वीर कैसी होगी ?

प्रेषक का नाम :- लखन लाल असाटी आनंदम सहयोगी ज़िला छतरपुर।
स्‍थल :- Chhatarpur

जैसा मैं हूं वैसे सब हो जाएं तो जिले की तस्वीर क्या होगी घुवारा सीएमओ ने कहा वृद्धाश्रम बंद हो जाएंगे छतरपुर। जिला पंचायत के ई दक्षता केन्द्र में जिले के सभी जनपद सीईओ एवं नगरीय निकाय के सीएमओ ने अल्प विराम में शामिल होकर आत्मचिंतन किया। कलेक्टर रमेश भण्डारी, सीईओ जिला पंचायत हर्ष दीक्षित, अपर कलेक्टर दिनेश कुमार मौर्य की उपस्थिति में आनंद विभाग द्वारा आयोजित अल्प विराम को आनंदम् सहयोगी लखनलाल असाटी ने सम्पन्न कराया।  अल्प विराम का विषय जैसा मैं हूं वैसे सब हो जाएं तो जिले की तस्वीर क्या होगी इस पर अधिकारियों ने कुछ मिनिट मौन रहकर जवाब तलाशने की कोशिश की। घुवारा सीएमओ  पूरन कुमार झा ने कहा कि वह अपने मां-बाप को बहुत प्यार करते हैं, यातायात नियमों का सख्ती से पालन करते हैं और कार्य में पूरी पारदर्शिता बरतते हैं। यदि मेरे जैसे सब हो जाएं तो किसी वृद्धाश्रम की जरूरत ही नहीं पड़ेगी। सड़क दुर्घटनाएं कम हो जाएंगी और पारदर्शिता के कारण लोगों का सरकारी तंत्र पर भरोसा बढ़ेगा। पर उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें देर रात सोने की आदत है जिस कारण वह नाश्ता भी नहीं कर पाते हैं। यह आदतें वह दूसरों में नहीं देखना चाहते। राजनगर जनपद सीईओ जयशंकर तिवारी ने कहा कि सब एक जैसे होने से विभिन्नता ही समाप्त हो जाएगी। यदि सब एक-दूसरे जैसे हो जाएं तो सब जगह समानता दिखाई देगी।  प्रारंभ में सभी की एक मिनिट की फिजिकल एक्सरसाईज भी कराई गई जिसमें अधिकारियों को पहले अपने दाएं हाथ से दायां कान पकडऩा था और बाएं हाथ से नाक। इसके बाद उन्हें ताली बजाना थी और उसके बाद बाएं हाथ से बायां कान तथा दाएं हाथ से नाक को पकडऩा था। इस तरह ताली बजाने की गति को तेज करना था। अधिकारियों ने इस अभ्यास से अत्यधिक आनंद लिया। आनंदम् सहयोगी लखनलाल असाटी ने जिले में संचालित आनंद विभाग की गतिविधियों की फिल्म का प्रदर्शन भी किया। प्रारंभ में सभी ने हमको मन की शक्ति देना मन विजय करे, दूसरों की जय के पहले खुद को जय करे गीत के साथ प्रार्थना की।


फोटो :-

   

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1