पर्सनल लाइफ और प्रोफेशनल लाइफ में बैलेंस होना जरूरी है : कलेक्टर कर्मवीर शर्मा

प्रेषक का नाम :- आनंदम सहयोगी एवं अतिरिक्त नोडल अधिकारी लखन लाल असाटी छतरपुर
स्‍थल :- Chhatarpur
07 Aug, 2019

पन्ना, पर्सनल लाइफ और प्रोफेशनल लाइफ में बैलेंस होना जरूरी है सुख सुविधाओं का भोग करने के लिए व्यक्ति का आध्यात्मिक होना भी जरूरी है अन्यथा वह उनका गुलाम बन जाएगा । कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सोमवार को आयोजित अल्पविराम कार्यक्रम में यह बात कही, इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ बालागुरु के, नोडल अधिकारी अध्यात्म एवं एडिशनल सीईओ जिला पंचायत अशोक कुमार चतुर्वेदी, एसडीएम वीवी पांडे, सहित सभी जिला प्रमुख अधिकारी उपस्थित थे राज्य आनंद संस्थान की ओर से लखनलाल असाटी छतरपुर, रमेश कुमार व्यास दमोह तथा हिमांशु भारत भोपाल ने अल्पविराम प्रशिक्षण संपन्न कराया अंतरात्मा की आवाज सुन कर जीवन में निर्णय लेने के कार्यक्रम अल्पविराम के बारे में जानकारी दी गई और इनसे जुडी  गतिविधियां भी कराई गईं। कलेक्टर श्री शर्मा ने कहा कि व्यक्ति को अपने भौतिक और आध्यात्मिक जीवन दोनों में भी बैलेंस करना चाहिए अन्यथा वह जीवन में किसी न किसी को खो देगा, मूल्य आधारित जीवन जीने के लिए आत्मा की आवाज सुनना जरूरी है। लखन लाल असाटी ने बताया कि अल्पविराम बर्तन को अंदर से चमकाने जैसा है जिसको चमका लेने के बाद उसका और भी बेहतर उपयोग किया जा सकता है इसी तरह व्यक्ति अपने आप से जुड़कर और फिर खुद में सुधार कर जीवन में और भी बेहतर कर सकता है। हिमांशु भारत ने कहा कि जब जीवन में हम खुद से कनेक्ट होते हैं तो सच्चाई सामने आती है कि जिन चीजों के लिए हम दूसरों को जिम्मेदार ठहराते थे वास्तव में उसके जिम्मेदार हम खुद हैंअल्पविराम टीम द्वारा *कौन है जिम्मेदार गीत की प्रस्तुति* को सभी ने अंदर से महसूस किया इसी तरह 30 सेकंड के ताली अभ्यास से प्राप्त हुए बड़े संदेशों को भी सभी ने अत्यंत प्रभावी माना। 


फोटो :-