• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2018 |

पहल, मार्गदर्शन , सकारात्मक सोच, और मदद् से 80% दिव्याँग आशीष रघुवंशी मिली व्हील चैयर।

प्रेषक का नाम :- विष्णु कुमार सिंगौर मंडल संयोजक/आनंदम सहयोगी मंडला
स्‍थल :- Mandla
19 Sep, 2017

पहल, मार्गदर्शन , सकारात्मक सोच, और मदद् से 80% दिव्याँग आशीष रघुवंशी मिली व्हील चैयर। आशीष रघुवंशी पिता श्री सम्पत लाल 80%विकलाँग जो अपने पैरों में खड़े भी नहीं हो सकता है।मूल.रूप से हनुमान जी वार्ड थाने के सामने महाराजपुर उप नगरीय क्षेत्र है। इनके किनारे ही भूरा लाल बर्मन का घर है। और भूरा बर्मन कलेक्ट्रेट में भृत्य तो है लेकिन खाली.समय.मैं आनंदम् ( दुआओं का घर ) मंडला में मेरे कार्यों में सहयोग करते हैं। यूँतो भूरा लाल रोज ही आनंदम आते है लेकिन एक दिन उसने आशीष की कहानी मुझे बताकर कहा कि नगरीय क्षेत्र के सभी पार्षद और अन्य सम्मानीय जनप्रतिनिधयों से व्हील चेयर का केवल आश्वासन ही मिला है। केवल.मिथ्या । आशीष के आवश्यक अभिलेख दूसरे दिन.बुलवाकर जिले के अपर कलेक्टर श्रीमान मनोज ठाकुर जी को अवगत कराया। जिनके सकारात्मक पहल से आशीष रघुवंशी को व्हील चेयर सामाजिक न्याय विभाग द्वारा उपलब्ध करायी गयी।आनंदम् दिव्याँग मोबाईल वैन सेवा क्लब सदस्यों सुखचैन झारिया और कृष्णा कुलस्ते ने आशीष को घर से कलेक्ट्रेट तक ,फिर कलेक्ट्रेट से हनुमान.जी वार्ड महाराजपुर तक छोड़ा । आशीष की माता और बहन नें आनंदम दिव्याँग मोबाईल वैन सेवा क्लब के सदस्यों और अध्यक्ष श्री रवीन्द्र पटेल को अन्तर्मन से धन्यवाद दिया ।


फोटो :-