• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2018 |

''जीवन'' सूर्य की भॉंति होना चाहिये !

प्रेषक का नाम :- देवेन्‍द्र प्रसाद पाण्‍डेय
स्‍थल :- Rewa
07 Sep, 2017

''आनंदम'' क्लब, के अध्यक्ष श्री रावेन्द्र प्रसाद पाण्डेय ने दिनांक 02-09-2017 कॊ एक 'युवा' जन समूह कॊ सम्बोधित करते हुये उनकी विभिन्न भीतरी जिज्ञासाओं का समाधान किया तथापि उन्हे अपने जीवन से नैराश्य भाव के उन्मूलन हेतु प्रेरित किया, इसी तारतम्य मे क्लब की प्रतिनिधि सुश्री शिप्रा मिश्रा ने अपनी 'काव्य' पंक्तियों से युवाओं कॊ उनके आत्म गौरव कॊ जाग्रत करने का प्रयास किया। क्लब के 'प्रेरक आनंदक' श्री देवेन्द्र प्रसाद पाण्डेय ने युवाओं कॊ अपने जीवन कॊ ''सूर्य'' सा बनाने के लिये कहा, उन्होने कहा की ''जीवन कॊ सूर्य की भाँति प्रकाशवान होना चहिये जो पूरे विश्व कॊ अपनी आभा और सुष्‍मा से आलोकित व दैदीप्यमान करे ! आप विशिष्ट हैं और आप समष्टि कॊ परिवर्तित करने की अपार ऊर्जा से आप्लावित हैं, इसलिये जीवन कॊ विशिष्टता के साथ जिये !