जीवन में आनंद के लिए सोच बदलो, क्योंकि सोच बदलने से मनुष्य की जिंदगी बदल जाती है कलेक्टर प्रियंका दास

प्रेषक का नाम :- डॉ. सुधीर आचार्य,आचार्य आनंद क्लब मुरैना
स्‍थल :- Morena
18 Sep, 2019

जीवन में आनंद के लिए व्यक्ति को अपनी सोच बदलना होगी। क्योंकि सोच में बदलाव लाने से मनुष्य की जिंदगी बदल जाती है। व्यक्ति एक दूसरे से ही सीखता है। इसलिए व्यक्ति को दोस्त, परिजन, रिश्तेदार से बातचीत करते रहना चाहिए। बातचीत के अभाव में मन में संदेह पनपता है और रिश्ते बिगड़ने लगते हैं। यह बात रविवार को पंचायती धर्मशाला के सभागार में आयोजित फैमिली आनंद महोत्सव में कलेक्टर प्रियंका दास ने कही। वे इस अनूठे महोत्सव में पति पृथ्वीराज दास के साथ उपस्थित रहीं। इस कार्यक्रम का आयोजन राज्य आनंद संस्थान के सहयोग से आचार्य आनंद क्लब द्वारा किया गया।

आनंद महोत्सव का शुभारंभ राज्य आनंद संस्थान की डॉ. समीरा नईम, हिमांशु भारत, अनामिका भारत ने किया। आनंद महोत्सव शुरूआत सुबह 10.30 बजे हुई। कार्यक्रम का शुभारंभ होने के आधा घंटे बात सभी प्रतिभागी दंपतियों से कलेक्टर ने अनुरोध करते हुए कहा कि इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मेरे पति पृथ्वीराज दिल्ली से आए हैं। सोमवार को वे दिल्ली लौट जाएंगे। हमें रविवार को एक दिन ही छुट्टी मिलती है। इसलिए कृपया मुझे घर जाने की अनुमति दें, ताकि मैं अपने पति को समय दे सकूं। इसके बाद कलेक्टर कार्यक्रम से चली गईं। फैमिली आनंद महोत्सव में शामिल हुए जिले से आए दंपति। 

आनंद महोत्सव के समापन समारोह में मुरैना विधायक रघुराज कंषाना एवं दिमनी विधायक गिर्राज डंडोतिया उपस्थित थे। इस दौरान विधायकद्वय ने बैलून गेम, माचिस गेम व बिंदी गेम के विजेता दंपतियों को पुरस्कार वितरण किया। इस अवसर पर विधायक रघुराज कंसाना ने कहा कि फैमिली आनंद महोत्व जैसे कार्यक्रम की शुरुआत चंबल की धरती से हो रही है। इसलिए आने वाले समय में इस कार्यक्रम के सकारात्मक परिणाम समाज के सामने आएंगे। डॉ. सुधीर बोले- बैलून गेम से सीख मिलती है कि खुद की नहीं दूसरों की परवाह जरूर करें मुरैना में फैमिली आनंद महोत्सव में वैलून गेम का हुआ आयोजन। अब प्रदेश के अन्य जिलों में भी होगा यह आयोजन कलेक्टर प्रियंका दास ने बताया कि पति-पत्नी के रिश्ते बेहतर रहें तथा परिवार में विघटन की स्थिति निर्मित न हो इसी उद्देश्य से फैमिली आनंद महोत्सव की शुरूआत मुरैना जिले से की गई है। मुरैना में आयोजित इस महोत्सव की सफलता के बाद अब प्रदेश के अन्य जिलों में भी यह आयोजन किया जाएगा। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए जिले भर से 80 पति-पत्नियों को आमंत्रित किया गया था। जिन्होंने इस आयोजन में शामिल होकर आनंद उठाया। आनंत उत्सव में सभी दंपतियों को वैलून गेम खिलाया गया। जिसके तहत 3 मिनिट के अंदर पत्नी-पत्नी को अपना नाम लिखा बैलून ढूंढना था। इसी बीच कुछ महिलाओं ने कलेक्टर प्रियंका दास एवं उनके पति पृथ्वीराज का नाम लिखा वैलून उन्हें ढूंढ़कर दे दिया। इस दौरान ढूंढ़ने के फेर में कई दंपतियों से बैलून फूट गए। अंत में कलेक्टर इस गेम की विनर रहीं। कार्यक्रम का संचालन कर रहे डॉ सुधीर आचार्य ने गेम का उद्देश्य बताते हुए कहा कि हम सभी लोग केवल स्वयं की परवाह करते हैं दूसरों की चिंता नहीं करते। जबकि दूसरों की परवाह करने से एक दूसरे से प्रेम बढ़ता है।


फोटो :-

   

डाक्‍यूमेंट :-

Document - 1
Document - 2
Document - 3


वीडियो :-

Video - 1
Video - 2