• आनंद शिविर प्रशिक्षण तथा अल्पविराम कार्यक्रम के रजिस्ट्रेशन की जानकारी के लिए क्लिक करें          • आनंद प्रोजेक्ट एवं फ़ेलोशिप के लिए आवेदन आमंत्रित है, आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवम्बर 2018 |

रिश्तों के टॉयर में संवाद की हवा का प्रवाह अवसाद की औषधि है

प्रेषक का नाम :- सूरजभान सिंह ठाकुर (प्रेरक आनंदक) रिस्पांसिबिलिटी प्रोटेक्शन एंड सर्विस आनंद क्लब
स्‍थल :- Ujjain
11 Apr, 2018

रिश्तों के टॉयर में संवाद की हवा का प्रवाह अवसाद की औषधि है...... अन्तर्राष्ट्रीय स्वास्थ्य दिवस के उपलक्ष्य पर रिस्पांसिबिलिटी प्रोटेक्शन एंड सर्विस तथा आनंद क्लब द्वारा कार्यशाला का आयोजन आनंद भवन में किया गया..."अवसाद हम और हमारी जिम्मेदारी " विषय पर आयोजित कार्यशाला के मुख्य वक्ता राष्ट्रपति अलंकरण से सम्मानित स्वामी मुस्कराके(शैलेन्द्र व्यास) ने दिव्यांग्य एवम वरिष्ठ जनों को संबोधित करते हुये कहा कि अवसाद के क्षण मानव की नकारात्मक सोच का परिणाम है..अवसाद गरीबो में नहीं वरन अमीरों में अधिक पाया जाता है...धन ,ऐश्वर्य, वैभव,पद ,प्रतिष्ठा ,अहंकार , मिथ्याभिमान से ग्रसित मानव अवसाद के कीचड़ में फस जाता है..इसलिये रिश्तों के टॉयर में संवाद की हवा का प्रवाह प्रवाहित होता रहना चाहिये..प्रसन्नता एवम मुस्कराहट का लेप निरंतर लगाते रहने से भी अवसाद दूर हो जाते है.. स्वामी मुस्कुराके ने अपनी विशिष्ट शैली में ठहाको की वर्षा की.... मुख्य अतिथि सी एम ओ डॉ. सच्चिदानंद भिलवारे ने कहा कि अवसाद की परिणीति मन की सोच का परिणाम है..मन चाहा ना हो पाना,जरूरत से ज्यादा प्राप्ति की चाह भी अवसाद का जनक बनता है...अध्यक्षता डी डी आर सी काउंसलर डॉ निधि तिवारी ने बताया कि अन्य की प्रगति ,ख़ुशी,तरक्की, आर्थिक प्रगति को सहन ना कर पाने से अवसाद के कीटाणु मन में प्रवेश कर मन एवम शरीर को नुकसान पहुँचाते है.. पाजेटिविटी का निरंतर प्रयास अवसाद की दवा है...कार्य शाला के संयोजक प्रेरक आनंदक सूरज भान सिंह ठाकुर ने स्वागत उद्धबोधन प्रदान किया...इस अवसर पर आंनद विभाग के नोडल अधिकारी श्री पी एल डाबरे,श्री राजेंद्र गुप्त, श्री शैलेन्द्र डाबी ने भी सारगर्भित विचार प्रस्तुत किये... अतिथि स्वागत प्रेरक आंनदक अध्यक्ष राजकुमार दोहरे,महा सचिव माया शर्मा,अर्चना ज्ञानी,प्रमोद मोबिया,भगवन कछुये ने किया...संचालन डॉ हेमलता बिलवाल एवम आभार श्री सूरज भान सिंह ठाकुर ने माना... इस अवसर पर दिव्यंग्य जन एवम वरिष्ठ नागरिक गण उपस्तिथ थे


फोटो :-

      

वीडियो :-

Video - 1