आंनद सभा – मॉड्यूल (प्रमुख विशेषताएँ)

  1. विद्यार्थियों के जीवन में संतुलन एवं प्रसन्‍नता के विकास हेतु एकल एवं समूह गतिविधियों के माड्यूल विकसित करना। यह आवश्‍यक है कि विद्यार्थी रचनात्‍मकता, दया, संवेदनशीलता, भावनाएं, सहजीवी अस्तित्‍व तथा आत्‍म निरिक्षण की आधारभूत समझ प्राप्‍त करें। साथ ही प्रभावी सम्प्रेषण, निर्णयन, समस्‍या – समाधान, स्थिति – आकलन तथा तनावमुक्‍त जीवन के महत्‍व को समझ सकें।
  2. माड्यूल के प्रस्‍तावित डोमेन हैं :- स्‍वीकार्यता, लक्ष्‍य , कृतज्ञता, संबंध एवं अर्पण/देना। उल्‍लेखित डोमेन सांकेतिक हैं एवं अन्‍य विषय सम्मिलित किये जा सकते हैं ।
  3. विद्यालयों में प्रति सप्‍ताह एक सत्र आनंद सभा माड्यूल के लिए उपलब्‍ध रहेगा।
  4. आनंद सभा सत्र अवधि 60 मिनट्स है।
  5. आनंद सभा गतिविधियाँ कक्षा या स्‍कूल खेल-मैदान में संचालित की जा सकती हैं।
  6. तकनी‍कें/ तरीके/ माध्‍यम (सुझावित)
    • खेल आधारित
    • कहानी: कहन एवं विचार-विमर्श, संकेत- निर्माण द्वारा
    • आत्‍म निरीक्षण एवं सचेतन प्रक्रियाएँ
    • लेखन- क्रियाएँ: जर्नल- लेखन एवं पत्र -लेखन
    • नाटक : रोल प्‍ले या नकल, संदेश आधारित लघु नाटक
    • वर्कशीट / स्व-विश्लेषण
  7. माड्यूल जमा करने एवं स्‍वीकृत होने की प्रक्रिया
    • माड्यूल जमा करने का प्रस्‍ताव एक खुली प्रक्रिया है तथा इसके लिए कोई समय बंधन नहीं है।
    • माड्यूल ऑनलाइन जमा करने हैं । इसके लिए राज्‍य आनंद संस्‍थान की वेबसाइट – www.anandsansthanmp.in पर “Invitation for EoI” लिंक का उपयोग करें।
    • माड्यूल डेवलपर को राज्‍य आनंद संस्‍थान की वेबसाइट पर स्‍वयं को पंजीकृत/ रजिस्‍टर करना होगा तथा आवश्‍यक सूचनाओं की पूर्ती कर अपना प्रोफाईल बनाना होगा।
    • प्राप्‍त माड्यूल का राज्‍य आनंद संस्‍थान द्वारा पहले अंतर्वस्‍तु – विश्लेषण एवं गुणवत्‍ता – मूल्‍यांकन किया जायेगा। अनुरूप पाये जाने पर आवश्‍यकतानुसार माड्यूल डेवलपर को संस्‍थान की आनंद सभा टीम के साथ विचार-विमर्श हेतु बुलाया जा सकता है।
    • राज्‍य आनंद संस्‍थान माड्यूल में सुधार या परिवर्तन का सुझाव दे सकता है। सुझावित संशोधन का संतोषजनक समावेश होने एवं सजीव परीक्षण प्रचालन (Test run) होने उपरांत, राज्‍य आनंद संस्‍थान माड्यूल को आनंद सभा के लिए स्‍वीकृत ( या अस्‍वीकृत भी) कर सकता है।
    • माड्यूल स्‍वीकृत होने पर माड्यूल डेवलपर के साथ विनिमय- पत्र (Letter of Exchange) जारी किया जायेगा।
    • स्‍वीकृत माड्यूल पर राज्‍य आनंद संस्‍थान का एकाधिकार (कॉपीराइट) रहेगा तथा संस्‍थान आवश्यकता अनुसार इसका उपयोग कर सकेगा।